scorecardresearch
 

भाई को राखी बांधने जा रही थी नाबालिग, रास्ते से अगवा कर दरिंदों ने किया गैंगरेप

Bihar News: सीवान में भाई को राखी बांधने जा रही नाबालिग लड़की को चार लोगों ने अगवा करके गैंगरेप किया. स्कॉर्पियो सवार ने पीड़िता की मदद कर उसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसका इलाज चल रहा है. घटना की सूचना के बाद पुलिस पूरी टीम के साथ मौके पर पहुंची और पूरे मामले की छानबीन में जुट गई है.

X
नाबालिग की हालत गंभीर (सांकेतिक तस्वीर) नाबालिग की हालत गंभीर (सांकेतिक तस्वीर)

बिहार में किसी लड़की का अकेले चलना और घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है. ताजा मामला सीवान से सामने आया है. यहां एक नाबालिग के साथ चार आरोपियों ने गैंगरेप की घटना अंजाम दिया है. घटना के बाद पूरे इलाके में आक्रोश का माहौल है. लोगों में गुस्सा है कि प्रशासन ऐसे लोगों पर लगाम नहीं लगा पा रहा है.

घटना के मुताबिक, पीड़िता अपने भाई को राखी बांधने जा रही थी. इसी दौरान चार लोगों ने उसे अगवा कर लिया. फिर सड़क किनारे झाड़ी में ले जाकर बारी-बारी चारों ने लड़की के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया. लड़की चीखती-चिल्लाती रही, लेकिन किसी ने उसकी गुहार नहीं सुनी. अचानक रास्ते से गुजरा एक स्कॉर्पियो सवार लड़की की चीख सुनकर झाड़ी की ओर गया, जिसे देखकर चारों आरोपी फरार हो गए.

स्कॉर्पियो सवार ने पीड़िता की मदद कर उसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसका इलाज चल रहा है. घटना की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस पूरे मामले की छानबीन में जुट गई है. नाबालिग की स्थिति गंभीर बताई जा रही है. उसके नाजुक अंगों के साथ-साथ प्राइवेट पार्ट में जख्म है. फिलहाल उसे पुलिस ने अपनी कस्टडी में रखा है और उससे किसी को बात करने नहीं दी जा रही है. वहीं, घटना के बाद आस-पास के इलाके के लोगों में आक्रोश है.

लड़की का करवाया गया मेडिकल

भगवानपुर थानाध्यक्ष पंकज कुमार के मुताबिक, पुलिस ने लड़की का मेडिकल करवाया है. कुछ लोगों से पूछताछ की है. पीड़िता के बयान पर शनिवार को पवन कुमार, अंकित कुमार, इमामुद्दीन, दिनेश कुमार के खिलाफ FIR दर्ज कर ली गई है. इनमें से एक को छापेमारी कर हिरासत में लिया गया है. उससे पूछताछ की जा रही है.

लड़कियों को परेशान करते हैं शराबी

जानकारी के मुताबिक, पीड़िता अपने मामा के घर रहती है. घटना के बाद परिजन हतप्रभ हैं और न्याय की गुहार लगा रहे हैं. स्थानीय लोगों का कहना है कि सुनसान रास्ते में इन दिनों ड्रग्स लेने वालों और शराबियों की भीड़ लगी रहती है. वे किसी भी आने-जाने वाले के साथ घटना को अंजाम दे सकते हैं. स्कूल जाने वाली लड़कियों को परेशान करते हैं. लेकिन प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है. स्थानीय ग्रामीणों का कहना है कि स्थिति बिल्कुल ठीक नहीं है. शराबबंदी के बाद ड्रग्स की लत में युवा फंस गए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें