scorecardresearch
 

दिल्ली पुलिस ने पोंजी स्कीम के फरार किंगपिन को किया गिरफ्तार, यूं देता था लोगों को झांसा

दिल्ली पुलिस ने पोंजी स्कीम के फरार किंगपिन भैरू लाल वर्मा, डायरेक्टर पावर रियल डेवलपर्स को गिरफ्तार कर लिया है. बताया जा रहा है कि वो जनता को बड़े लाभ का आश्वासन देता था और कहता था कि उसकी कंपनी स्टॉक एक्सचेंज के माध्यम से पॉवर सेक्टर में निवेश करती है.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली पुलिस को मिली एक और सफलता
  • पोंजी स्कीम का फरार किंगपिन हुआ अरेस्ट
  • दिल्ली से बाहर के मामलों में भी शामिल था

दिल्ली पुलिस ने पोंजी स्कीम के फरार किंगपिन भैरू लाल वर्मा, डायरेक्टर पावर रियल डेवलपर्स को गिरफ्तार कर लिया है. बताया जा रहा है कि वो जनता को बड़े लाभ का आश्वासन देता था और कहता था कि उसकी कंपनी स्टॉक एक्सचेंज के माध्यम से पॉवर सेक्टर में निवेश करती है. जानकारी के मुताबिक वह दिल्ली से बाहर के मामलों में भी शामिल था.

आपको बता दें कि इससे पहले पिछले महीने में भी दिल्ली पुलिस ने पोंजी स्कीम चलाने वाले एक ऐसे ही और व्यक्ति को गिरफ्तार किया था. उस पर 130 से अधिक लोगों के साथ पांच करोड़ रूपये की ठगी करने का आरोप है. पुलिस के अनुसार वह आरोपी पोंजी योजनाओं के माध्यम से लोगों को उनके निवेश पर 200 प्रतिशत तक मासिक रिटर्न देने का वादा करता था.

5 अगस्त को पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने पश्चिम संत नगर निवासी 38 वर्षीय अरुण अग्निहोत्री को गिरफ्तार किया था. वह अपने दोस्त संजीव उपाध्याय के साथ 'ग्रेट इंडिया एक्सपो' नाम से कंपनी चलाता था. पुलिस के मुताबिक दोनों ने मिलकर 130 से अधिक लोगों के साथ ठगी की है.

क्या होती है ये पोंजी स्कीम

पोंजी स्कीम कुछ और नहीं बल्कि सीधे तौर पर एक प्रकार की निवेश धोखाधड़ी है. इसमें सामने वाला आपसे वादा करता है कि पैसा निवेश करने पर आपको हाई रिटर्न देगा. आम तौर पर पोंजी स्कीम में शुरुआती निवेशकों को नए निवेशकों से लिए गए पैसों से उनका रिटर्न चुकाया जाता है. लेकिन बाद में निवेश के लिए पर्याप्त लोग नहीं आते हैं, तो योजना ठप पड़ जाती है और निवेशक अपना पैसों से हाथ धो बैठते हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें