scorecardresearch
 

दिल्ली में गैंगवार! टिल्लू ताजपुरिया गैंग के गुर्गे का रोहिणी में मर्डर

टिल्लू ताजपुरिया गैंग के गुर्गे दीपक उर्फ ​​राधे को सेक्टर 15-16 रोहिणी बाजार में दो हमलावरों ने गोली मार दी थी. घायल हालत में दीपक को उपचार के लिए तत्काल बीएसए अस्पताल ले जाया गया था जहां उपचार के दौरान उसका निधन हो गया.

X
बदमाशों ने मारी थी गोली (प्रतीकात्मक तस्वीर) बदमाशों ने मारी थी गोली (प्रतीकात्मक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • उपचार के दौरान दीपक उर्फ राधे की मौत
  • डीसीपी बोले- गैंगवार के एंगल की पुष्टि नहीं

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में गैंगस्टर जितेंद्र उर्फ गोगी की हत्या हो गई थी. कोर्ट में हुए इस हत्याकांड में टिल्लू ताजपुरिया गैंग का नाम सामने आया था. इस घटना के बाद से ही दिल्ली में गैंगवार की आशंका जताई जाने लगी थी. अब दिल्ली में गैंगवार बढ़ता दिख रहा है. दिल्ली के रोहिणी इलाके में टिल्लू ताजपुरिया गैंग के एक गुर्गे की गोली मारकर हत्या कर दिए जाने का मामला सामने आया है.

जानकारी के मुताबिक टिल्लू ताजपुरिया गैंग के गुर्गे दीपक उर्फ ​​राधे को सेक्टर 15-16 रोहिणी बाजार में दो हमलावरों ने गोली मार दी थी. घायल हालत में दीपक को उपचार के लिए तत्काल बीएसए अस्पताल ले जाया गया जहां उपचार के दौरान उसका निधन हो गया. ये घटना केएनके मार्ग थाना क्षेत्र के अंतर्गत हुई है. पुलिस के मुताबिक दीपक के खिलाफ गंभीर धाराओं में पांच आपराधिक मामले दर्ज हैं.

गैंगवार के एंगल की पुष्टि नहीं

रोहिणी के डीसीपी ने कहा है कि अभी तक गैंगवार के एंगल का पता नहीं चल सका है. उन्होंने कहा कि मामले की जांच की जा रही है. डीसीपी रोहिणी ने कहा कि पुलिस इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही है. सभी आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा. डीसीपी ने गैंगवार के एंगल की पुष्टि नहीं की है लेकिन इसे गैंगवार से जोड़कर देखा जा रहा है.

गौरतलब है कि दीपक को पुलिस ने साल 2019 में संदीप उर्फ ​​ढिल्लू के साथ गिरफ्तार किया था जो टिल्लू ताजपुरिया गिरोह का सदस्य माना जाता है. साल 2018 में संदीप पुलिस हिरासत से भाग निकला था. तब  दीपक पर भी हेल्थ चेकअप के बाद जेल वैन से वापस जेल ले जाए जाते समय पुलिसकर्मियों की आंख में मिर्च पाउडर झोंककर फरार होने में मदद करने का आरोप लगा था.

बता दें कि पिछले दिनों जितेंद्र गोगी गैंग ने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था कि हम चुप बैठे हैं इसका मतलब ये नहीं कि हम मर गए. गोगी गैंग की ओर से हुए इस पोस्ट के चंद रोज बाद ही टिल्लू ताजपुरिया गैंग के गैंगस्टर के करीबी की गोली मारकर हत्या कर दी गई. वह भी उसी रोहिणी में जहां जितेंद्र गोगी कती हत्या हुई थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें