scorecardresearch
 

दिल्ली को दहलाने की फिराक में था पाकिस्तानी आतंकी, AK-47 और हैंड ग्रेनेड के साथ गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने राजधानी से एक पाकिस्तानी आतंकी को गिरफ्तार किया है. इस आतंकी को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने ट्रेन्ड किया है. आतंकी के पास से स्पेशल सेल ने एके-47 और हैंड ग्रेनेड भी बरामद किए हैं.

X
आतंकी पाकिस्तान के पंजाब प्रांत का रहने वाला है (प्रतीकात्मक तस्वीर)
2:32
आतंकी पाकिस्तान के पंजाब प्रांत का रहने वाला है (प्रतीकात्मक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राजधानी दिल्ली के नरोवल इलाके से गिरफ्तार
  • भारत पर हमले के लिए ISI ने किया था ट्रेन्ड

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने एक पाकिस्तानी आतंकी को गिरफ्तार किया है. ये आतंकी राजधानी को दहलाने की फिराक में था. आतंकी के पास से स्पेशल सेल ने एके-47 और हैंड ग्रेनेड भी बरामद किए हैं. इस आतंकी को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI ने भारत पर हमले के लिए तैयार किया था. आतंकी को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की जा रही है.

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बताया, सोमवार रात 9 बजकर 20 मिनट पर मोहम्मद अशरफ उर्फ अली नाम के एक पाकिस्तानी शख्स को दिल्ली के लक्ष्मी नगर इलाके से गिरफ्तार किया गया. मोहम्मद अशरफ पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के नरोवल जिले का रहने वाला है.

मोहम्मद अशरफ भारतीय नागरिक बनकर रह रहा था. इसके लिए उसने मोहम्मद नूरी नाम से अपना फर्जी नाम भी रख लिया था और फर्जी आईडी कार्ड भी बनवा लिया था. वो दिल्ली के शास्त्री नगर में आराम पार्क इलाके में एक घर में रह रहा था. भारतीय आईडी कार्ड बनाने के लिए उसने फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल किया था.

सूत्रों से पता चला है कि ये आतंकी दिल्ली में एक बड़े आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए आया था. इसे आईएसआई ने हथियार चलाने की ट्रेनिंग दी थी. उसके बाद नेपाल के रास्ते से भारत में दाखिल कराया गया था. 

स्पेशल सेल ने उसके पास से एक हैंडबैग, दो मोबाइल फोन बरामद किए. उसके पास से एक एके-47, मैगजीन और 60 गोलियां भी बरामद हुई हैं. एक हैंड ग्रेनेड, दो पिस्तौल और 50 कारतूस भी उसकी निशानदेही पर कालिंदी कुंज घाट से बरामद हुए हैं. हथियार इसने कालिंदी कुंज के पास यमुना किनारे बालू के नीचे दबा कर रखे थे. तुर्कमान गेट इलाके से एक भारतीय पासपोर्ट भी उसने बरामद करवाया है.

आरोपी मोहम्मद अशरफ उर्फ अली के खिलाफ यूएपीए, एक्सप्लोसिव एक्ट, आर्म्स एक्ट समेत कई धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है. उसके लक्ष्मी नगर के रमेश पार्क स्थित ठिकाने पर भी तलाशी ली गई है. पुलिस का मानना है कि त्योहारों के सीजन में वो किसी बड़े हमले की साजिश रच रहा था. पुलिस टीम उससे पूछताछ कर ये जानने की कोशिश कर रही है कि भारत में कौन-कौन लोग उसकी मदद कर रहे थे, किस तरीके से नेपाल के रास्ते वो भारत पहुंचा और इस पूरी साजिश में कौन उसके मददगार हैं?

बताया जा रहा है कि पाकिस्तानी आतंकी भारत में अलग-अलग जगहों पर घूम रहा था. उसने जम्मू में रुकने की बात भी बताई है. गिरफ्तार आतंकी ने जम्मू-कश्मीर में कुछ आतंकी घटनाओं को अंजाम देने की बात कबूली है, लेकिन दिल्ली पुलिस उसके दावे को पुख्ता करने की कोशिश में जुटी है. पुलिस का कहना है कि ISI ने उसे इस तरह ट्रेन्ड किया है कि अगर ये पकड़ा जाए तो एजेंसियों को गुमराह कर सके, इसलिए उसके दावों को पुख्ता किया जा रहा है.

दिल्ली पुलिस से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, ये आतंकी पिछले 15 साल से दिल्ली में रह रहा था और इसने हिंदुस्तानी लड़की से शादी भी कर ली थी. फिलहाल अपनी पत्नी से अलग रह रहा था. ये दिल्ली के स्लीपर सेल का मुखिया था और हिंदुस्तान आने वाले आतंकियों को हथियार और लॉजिस्टिक मुहैया करवाता था. दिल्ली में इसके नेटवर्क में और भी लोग हैं. इस मामले में जल्द ही कई और गिरफ्तारियां हो सकती हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें