scorecardresearch
 

झारखंड: डायन होने के शक में दंपत्ति की पीट-पीटकर हत्या, ग्रामीण मुंह खोलने को तैयार नहीं

गुमला में बीते साल जादू टोना के शक में एक ही परिवार के पांच लोगों को गांव वालों ने दर्दनाक मौत दी थी. ग्रामीणों का आरोप है कि गांव के लोग बीमार हो जाते हैं.

अड़की थाना अड़की थाना
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बीते साल जादू-टोना के शक में एक ही परिवार के पांच लोगों की हुई थी हत्या
  • अब डायन होने के शक में लोगों ने दंपत्ति को पीट-पीटकर मार दिया

झारखंड आजादी के साढ़े सात दशक बाद भी अंधविश्वास और काला जादू-टोना के मकड़जाल से बाहर नहीं निकल पाया है. भ्रांति, भ्रम और डायन होने के शक में अब तक सैकड़ों हत्या हो चुकी है और कई परिवारों को मौत के घाट उतारा जा चुका है.

ताजा मामला खूंटी के अड़की थाना क्षेत्र के तिरला गांव का है. अड़की पुलिस ने हड़लामा जंगल से एक दंपत्ति का शव बरामद किया है जिसकी पहचान बानो मुंडाईन और पति मलगुन मुंडा के रूप में हुई है.

मृतक के दो बेटे हैं जो बाहर दूसरे राज्यों में रहकर काम करते हैं. घटना की सूचना पर दोनों बेटों ने घर पहुंचकर अड़की थाना में हत्या का मामला दर्ज कराया है. घटना के बारे में जब पुलिस ने जांच करने की कोशिश की तो ग्रामीणों ने कुछ भी बताने से इनकार कर दिया.

इस मामले को लेकर खूंटी एसडीपीओ अमित कुमार ने बताया कि काफी छानबीन करने पर पता चला है कि गांव में कुछ परिवार बीमार थे इसलिए आशंका जतायी जा रही है कि डायन होने के शक में हत्या की गई है.

वहीं अड़की थाना प्रभारी पंकज कुमार ने बताया कि गांव वालों में दहशत का माहौल है इसलिए घटना के बाद कोई भी सामने नहीं आ रहा है. पुलिस ने कहा है कि मामले का खुलासा जल्द ही किया जाएगा और दोषी पुलिस की गिरफ्त में होंगे. फिलहाल पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया है.

अरविंद सिंह खुंति के इनपुट के साथ

ये भी पढ़ें:

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×