scorecardresearch
 

बांग्लादेश: हमले में मारे गए शख्स का शव इस्कॉन मंदिर के पास तालाब से बरामद, आरोपियों के खिलाफ एक्शन की मांग

बांग्लादेश के इस्कॉन मंदिर (ISKCON Temple) में हुए हमले में मारे गए शख्स का शव शनिवार सुबह मंदिर परिसर के तालाब से बरामद किया गया है. इस्कॉन समुदाय ने हमले की निंदा करते हुए बांग्लादेश सरकार (Bangladesh Government) से आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है.

iskcon temple attack iskcon temple attack
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इस्कॉन मंदिर हमले में मारे गए शख्स का मिला शव
  • आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग

बांग्लादेश (Bangladesh) में एक बार फिर हिंदू समुदाय के लोगों को निशाना बनाया गया है. दरअसल, नोआखली जिले के बेगमगंज में शुक्रवार को भीड़ ने कथित तौर पर इस्कॉन मंदिर (ISKCON Temple) पर हमला कर दिया. इस हमले में एक शख्स की मौत हो गई, जिसका शव शनिवार सुबह मंदिर परिसर के तालाब से बरामद किया गया है. मृतक की पहचान 26 वर्षीय पार्था चंद्र दास के रूप में हुई है. इसके अलावा इस हमले में करीब चार अन्य लोग भी घायल हुए हैं. इन सभी को इलाज के लिए नोआखली के सामान्य अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. 

इस्कॉन समुदाय ने एक ट्वीट के जरिए हमले की जानकारी दी है. साथ ही हमले की कई भयावह तस्वीरें भी जारी की है. ट्वीट में लिखा है, 'बहुत ही दुख के साथ हम इस्कॉन सदस्य पार्था दास की मौत की खबर साझा करते हैं. उन्हें शुक्रवार को 200 लोगों की भीड़ ने बेरहमी से मार डाला. उनका शव मंदिर के बगल में एक तालाब से मिला. हम सरकार से मांग करते हैं कि वह इस संबंध में तत्काल कार्रवाई करे.’

स्थानीय इस्कॉन मंदिर के अधिकारियों के अनुसार, भीड़ ने शुक्रवार को कोमिला शहर के इस्कॉन मंदिर परिसर में घुसकर तोड़फोड़ की. इस्कॉन के संस्थापक श्रीला प्रभुपादा की मूर्ति और जगन्नाथ रथ को आग लगा दी. साथ ही वहां खड़ी कुछ मोटरसाइकिलों को भी आग के हवाले कर दिया. भीड़ ने मंदिर के निवासियों को बेरहमी से पीटकर उनपर भी चाकुओं से हमला किया.

वहीं, बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना ने दुर्गा पूजा के दौरान कोमिला शहर में हिंसा फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की बात कही है. उन्होंने कहा कि इस हिंसा को अंजाम देने वाले लोगों को कड़ी सजा दी जाएगी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें