scorecardresearch
 

दिल्ली: छावला में प्रॉपर्टी डीलर की हत्या करने वाले दो बदमाश गिरफ्तार, झड़प के दौरान हेड कांस्टेबल हुए घायल 

छावला प्रॉपर्टी हत्याकांड मामले में पुलिस ने लॉरेन्स बिश्नोई और काला जठेड़ी गैंग के दो सदस्यों को दबोचा है. इन पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था. 

छावला में प्रॉपर्टी डीलर की हत्या करने वाले दो बदमाश गिरफ्तार छावला में प्रॉपर्टी डीलर की हत्या करने वाले दो बदमाश गिरफ्तार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • लॉरेन्स बिश्नोई और काला जठेड़ी गैंग के हैं सदस्य
  • छावला के प्रॉपर्टी डीलर नरेश की कर दी ​थी हत्या
  • पिस्टल, कारतूस और एक स्कूटी की गई बरामद 

दिल्ली की द्वारका एटीएस पुलिस टीम ने एक लाख के दो इनामी बदमाशों को गिरफ्तार किया है. इन बदमाशों ने अपने साथियों के साथ मिलकर छावला इलाके में एक प्रॉपर्टी डीलर की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी थी, जिसके बाद से यह आरोपी फरार थे. पुलिस द्वारा इन पर एक लाख का इनाम भी रखा गया था.

खुफिया जानकारी के आधार पर एटीएस की टीम ने इन दोनों बदमाशों को गुरुग्राम से स्कूटी पर आते वक्त द्वारका के सेक्टर 16 इलाके में धर दबोचा. पुलिस और इन बदमाशों के बीच में झड़प भी हुई, जिसमें एक हेड कांस्टेबल गंभीर रूप से घायल भी हो गए, जिनका हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है. पुलिस ने इनके पास से एक अत्याधुनिक पिस्टल, दो जिंदा कारतूस और एक स्कूटी बरामद की है.

एटीएस पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि छावला में हुए प्रॉपर्टी डीलर हत्याकांड के आरोपी गुरुग्राम से एक स्कूटी पर सवार होकर नजफगढ़ के नगली सकरावती आ रहे हैं. एटीएस टीम ने बिना देरी के इन्हें दबोचने के​ लिए जाल बिछाया और द्वारका के सेक्टर-16 नजफगढ़ मेट्रो लाइन के पास इन आरोपियों का इंतजार करने लगी. बताया गया है कि कुछ देर बाद ही ये बदमाश स्कूटी से आते हुए दिखाई दिए. पुलिस टीम ने इन्हें रुकने का इशारा किया, इस दौरान स्कूटी सवार बदमाशों ने पिस्टल दिखाते हुए पुलिस के जवानों को डराने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस ने बहादुरी दिखाते हुए इन्हें दबोच लिया.

हेड कांस्टेबल हुए घायल 
डीसीपी द्वारका संतोष कुमार मीणा ने बताया कि पुलिस और इन बदमाशों की झड़प में हेड कांस्टेबल गंभीर रूप से घायल हो गए, जिसे तुरंत हॉस्पिटल पहुंचाया गया. पुलिस के मुताबिक इन दोनों आरोपियों की पहचान नजफगढ़, गोपाल नगर के रहने वाले नवीन उर्फ आशीष और नजफगढ़, नगली सकरावती के रहने वाले नीरज तहलान के रूप में हुई है. इन दोनों आरोपियों से पहले इनके एसोसिएट कुख्यात अपराधी प्रियव्रत और रोहित को स्पेशल सेल की टीम ने गिरफ्तार किया था और राहुल को द्वारका पुलिस ने गिरफ्तार किया था. इन पांचों अपराधियों ने मिलकर छावला हत्याकांड को अंजाम दिया था.

ये भी पढ़ें - दिल्ली: महिला की गला काटकर हत्या, खून से लथपथ बेड पर पड़ा था शव

प्रॉपर्टी डीलर की हुई थी हत्या 
डीसीपी द्वारका संतोष कुमार मीणा ने बताया कि फरवरी के महीने में नीरज तेहरान ने आपसी रंजिश के चलते छावला इलाके में रहने वाले प्रॉपर्टी डीलर नरेश उर्फ कार्ने की हत्या का प्लान बनाया था, जिसके लिए उसने लॉरेंस बिश्नोई और काला जठेड़ी गैंग के कुख्यात अपराधी प्रियव्रत को साथ में लिया और उसके साथ रोहित, राहुल और नवीन उर्फ आशीष भी थे. छावला इलाके में अंधाधुंध गोलियां चलाकर प्रॉपर्टी डीलर नरेश की निर्मम हत्या कर दी और फरार हो गए. पुलिस से बचने के लिए आरोपी राजस्थान, उत्तर प्रदेश के बागपत और फिर चंडीगढ़ चले गए. वहीं पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि यह लोग कई बार अपने रिश्तेदारों से मिलने के लिए दिल्ली भी आए थे.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें