scorecardresearch
 

बांग्‍लादेशी नागरिकों को हिंदू बनाकर भारत से भेजता था विदेश, UP ATS ने दबोचा

इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Indira Gandhi International Airport) पर काम करने के दौरान अजय घिल्डियाल एयरपोर्ट गलत तरीके से विदेश भेजने वाले व्यक्तियों को उनके एजेंटों के जरिए पैसे लेकर बिना रोक-टोक बोर्डिग कराने में मदद करता था. इसके लिए प्रति व्यक्ति ₹15000 दिए जाते थे

X
यूपी एटीएस की पकड़ में आया आरोपी युवक
यूपी एटीएस की पकड़ में आया आरोपी युवक
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यूपी के सहारनपुर से पकड़ा गया युवक
  • IGI एयरपोर्ट पर काम करने वाला हेल्‍पर भी शामिल

यूपी एटीएस (UP ATS) ने बांग्लादेशी नागरिकों (Bangladeshi nationals ) को फर्जी दस्तावेज (Fake Documents) से हिंदू (Hindu) और भारतीय (Indians) बनाकर विदेश भेजने वाले रैकेट के अहम किरदार को गिरफ्तार किया है. यूपी एटीएस ने सहारनपुर से उस शख्स को गिरफ्तार किया है.  जिसकी मदद से फर्जी दस्तावेज से बनाए गए पासपोर्ट पर बांग्लादेशी नागरिक भारत से विदेश भेजे जा रहे थे. 

बीते दिनों गाजियाबाद से गिरफ्तार किए गया विक्रम सिंह ने फर्जी दस्तावेजों से बांग्लादेशी नागरिकों को भारतीय नागरिकता दिलाने और फिर नागरिकता के फर्जी दस्तावेजों से बनवाए गए फर्जी पासपोर्ट पर विदेश भेजने वाले रैकेट का खुलासा किया था. विक्रम सिंह से पूछताछ के बाद यूपी एटीएस ने देहरादून के रहने वाले अजय घिल्डियाल को सहारनपुर से गिरफ्तार किया.  पूछताछ में सामने आया है कि अजय घिल्डियाल साल 2016 से इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट नई दिल्ली में एयर इंडिया के कस्टमर केयर पर काम करता था, वह  35 से 40 लोगों को स्पेन, लंदन भेज चुका है. 

सरकारी दफ्तर में आकर ये ठग 'IAS' वसूलने लगा पैसे, पोल खुली तो हुआ ये हाल

Child Pornography Case: वीडियो शेयर करने पर देशभर में गिरफ्तारियां, 14 राज्यों में CBI का छापा, जानें पूरा केस

इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर काम करने के दौरान अजय घिल्डियाल एयरपोर्ट गलत तरीके से विदेश भेजने वाले व्यक्तियों को उनके एजेंटों के जरिए पैसे लेकर बिना रोक-टोक बोर्डिग कराने में मदद करता था. इसके लिए प्रति व्यक्ति ₹15000 दिए जाते जो एयरलाइंस के ड्यूटी पर मौजूद कर्मचारियों में भी बांटा जाता था.

साल 2020 में अजय घिल्डियाल की मुलाकात विक्रम और गुरप्रीत से हुई थी.  गुरप्रीत फोन के जरिए ही अजय के संपर्क में था. फोन के जरिए निर्देश मिलने पर अजय फर्जी दस्तावेजों से बांग्लादेशी नागरिकों को विदेश भेजने में मदद कर रहा था.  फिलहाल यूपी एटीएस ने अजय घिल्डियाल को गिरफ्तार कर 10 दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड पर ले लिया है.  

वही यूपी एटीएस विक्रम सिंह से भी 2 दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड पर पूछताछ करेगी. इस दौरान विक्रम सिंह और अजय घिल्डियाल को आमने-सामने बैठाकर भी एटीएस की टीमें इस रैकेट में शामिल अन्य आरोपियों के बारे में जानकारी लेंगी. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें