scorecardresearch
 

यूपी: नकली पेट्रोल-डीजल सप्लाई करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, 4 गिरफ्तार

अब इस गिरोह को लेकर जानकारी तो लगातार मिल रही थी, लेकिन हर बार वे बच निकलने में कामयाब रहते थे. ऐसे में इस बार एसटीएफ पर भी सख्त कार्रवाई का दवाब था.

नकली पेट्रोल सप्लाई करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ नकली पेट्रोल सप्लाई करने वाले गिरोह का भंडाफोड़
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नकली पेट्रोल सप्लाई करने वाला गिरोह
  • यूपी एसटीएफ की कड़ी कार्रवाई
  • चार आरोपियों को किया गया गिरफ्तार

यूपी के कई जिलों में नकली और मिलावटी पेट्रोल को लेकर खबरें सुनने-देखने को मिल रही हैं. दावा किया जा रहा है कि कई पेट्रोल पंप मिलावटी पेट्रोल-डीजल बेच रहे हैं. अब यूपी एसटीएफ की तरफ से ऐसे ही एक गिरोह का पर्दाफाश किया गया है और मिलावट करने वाले चार लोगों को गिरफ्तार किया है.

नकली पेट्रोल सप्लाई करने वाला गिरोह

अब इस गिरोह को लेकर जानकारी तो लगातार मिल रही थी, लेकिन हर बार वे बच निकलने में कामयाब रहते थे. ऐसे में इस बार एसटीएफ पर भी सख्त कार्रवाई का दवाब था. एसटीएफ को सूचना मिली थी कि मां विंध्यवासिनी ऑटो मोबाइल पेट्रोल पंप पर एक ऑयल टैंकर आने वाला है. अब इस बार क्योंकि पुलिस की टीम पहले से तैयार थी, ऐसे में उस टैंकर को पेट्रोप पंप पर आते ही घेर लिया गया और मौके से चार लोग गिरफ्तार हुए. उस लिस्ट में मिलावटी पेट्रोल सप्लाई करने वाले गिरोह के मास्टमाइंड, टैंकर चालक, पेट्रोल पंप के मालिक और मैनेजर को पकड़ा गया.

पहले भी जेल जा चुका आरोपी

गैंग के सरगना राजकुमार जायसवाल ने पूछताछ के दौरान बताया कि पहले वो तेल टैंकरों के चालक के रूप में काम करता था. इस दौरान उसे मालूम हुआ कि ऐसे अवैध तेल सप्लाई के धंधे में काफी पैसा है. ऐसे में उसने खुद पेट्रोल पम्पों पर नकली पेट्रोल, डीजल सप्लाई करना शुरू कर दिया.

सबसे पहले राजकुमार ने वर्ष 2000 में जायसवाल इंटरप्राइजेज नाम से एक फर्म रजिस्टर कराई. लेकिन जब उसके कारनामों की जानकारी मिली तो कुछ ही दिनों बाद उसे जेल भेज दिया गया. जेल से छूटने के बाद उसने फिर इस धंधे को नए सिरे से आरंभ किया. इस बार उसने प्रयागराज और आस-पास के इलाकों में अपने धंधे को बढ़ाने की कोशिश की और वो लंबे समय तक मिलावटी पेट्रोल सप्लाई करने में सफल भी रहा. लेकिन फिर जब लगातार शिकायतें आने लगीं, तो कार्रवाई हुई और उसे उसके साथियों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया.

क्लिक करें- पेट्रोल पंप पर हो गई धोखाधड़ी! ऐसे करें शिकायत, तुरंत बनेगा काम 

नकली TAX INVOICE बना दिया धोखा

इस गिरोह के लोग इतने शातिर और चालाक थे कि मनमाफिक तरीके से TAX INVOICE भी तैयार कर लेते थे. ऐसे में अगर कोई पुलिस का अधिकारी उन्हें रोकता तो वे नकली TAX INVOICE दिखा खुद को बचा लेते. कोशिश तो इस बार कुछ ऐसी ही रहती, लेकिन एसटीएफ को पहले ही सूचना मिल गई थी और उन्होंने रणनीति के तहत कार्रवाई की और इस गिरोह का भंडाफोड़ हो गया.
 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें