scorecardresearch
 

खूंखार गैंगस्टर पपला गुर्जर गिरफ्तार, प्रेमिका की गर्दन पर चाकू रखकर बोला- इसे मार दूंगा

पपला गुर्जर राजस्थान का एक खतरनाक गैंगस्टर है, जिसके ऊपर पांच लाख रुपये का इनाम भी है. 16 महीने पहले वह राजस्थान की जेल में था, लेकिन उसके खूंखार गैंग ने फिल्मी स्टाइल में थाने पर गोलियां बरसाते हुए उसे थाने से निकाल लिया था.

राजस्थान पुलिस ने पपला गुर्जर को गिरफ्तार कर लिया है राजस्थान पुलिस ने पपला गुर्जर को गिरफ्तार कर लिया है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • प्रेमिका के साथ कोल्हापुर में रह रहा था पपला गुर्जर
  • 16 महीने पहले साथी गैंग थाने से छुड़ा ले गई थी
  • थाने पर AK-47 से बरसाई थीं गोलियां

पांच लाख रुपये की इनामी राशि वाले खतरनाक गैंगस्टर पपला गुर्जर को राजस्थान पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. खबर आ रही है कि राजस्थान पुलिस ने गैंगस्टर पपला गुर्जर को महाराष्ट्र के कोल्हापुर जिले से गिरफ्तार किया है, जहां वह अपनी प्रेमिका के साथ रह रहा था. आपको बता दें कि पपला गुर्जर राजस्थान का एक खतरनाक गैंगस्टर है, जिसके ऊपर पांच लाख रुपये का इनाम भी है. 16 महीने पहले वह राजस्थान की जेल में था, लेकिन उसके खूंखार गैंग ने फिल्मी स्टाइल में थाने पर गोलियां बरसाते हुए उसे थाने से निकाल लिया था. उसके गैंग ने अलवर जिले के बहरोड़ पुलिस थाने पर हमला बोल दिया था, जिसके बाद से ही वह पुलिस कस्टडी से फरार चल रहा था.

देखें: आजतक LIVE TV

बीते दिन जैसे ही पपला को पता चला कि पुलिस उसे घेर चुकी है, उसने अपनी प्रेमिका की गर्दन पर चाकू रखकर कहा कि पीछे हट जाओ वरना इसे मार दूंगा. जिस गर्लफ्रेंड ने पपला को 509 दिनों से छुपाकर रखा था, पुलिस से बचने के लिए वह उसी को मारने पर उतारू हो गया. लेकिन पुलिस पीछे नहीं हटी तो पपला ने तीन मंजिला मकान से छलांग लगा दी, इसमें उसका पैर टूट गया. पपला के नीचे कूदते ही नीचे खड़े कमांडो ने उसे गिरफ्तार कर लिया.

पपला को गिरफ्तार करने वाले जयपुर रेंज के IG हवा सिंह घुमरिया ने बताया, ''पपला को पहलवानी का शौक था इसलिए हमें पता था कि वह वहीं रह रहा होगा जहां जिम होगा और हमने सूचना के आधार पर पता किया कि पपला की प्रेमिका भी है, वो जिम चलाती है. उसके बाद हम लोगों ने वहां जाल बिछाया और पपला को घेर लिया. आधी रात में जब हम कोल्हापुर पहुंचे तो सादी वर्दी में हमें देखकर लोगों ने हमें डकैत समझ लिया और पथराव करने लगे. मगर हमने लोगों को समझा-बुझाकर अपना ऑपरेशन शुरू किया.''

आपको बता दें कि पपला को 5 सितम्बर 2019 की रात डेढ़ बजे अलवर के बहरोड़ थानाक्षेत्र से 32 लाख रुपये के साथ गिरफ्तार किया गया था, मगर छह सितंबर की सुबह नौ बजे हथियारबंद बदमाशों ने AK-47 से थाने पर फायरिंग करते हुए पपला को छुड़ा लिया था. पपला 2017 में भी हरियाणा पुलिस की कस्टडी से भागा था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें