scorecardresearch
 
क्राइम न्यूज़

रेलवे लाइन के पास खींच रहे थे सेल्फी, 2 भाइयों की दर्दनाक मौत

सेल्फी लेते समय ट्रेन की चपेट में आए दो भाई
  • 1/6

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद के रसूलपुर इलाके में रेलवे ट्रैक पर सेल्फी लेते समय दो चचेरे भाई ट्रेन की चपेट में आ गए और दोनों की मौके पर ही मौत हो गई. इस घटना के बाद से परिवार में कोहराम मचा हुआ है और पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.  

सेल्फी लेते समय ट्रेन की चपेट में आए दो भाई
  • 2/6

बताया जा रहा है कि मरने वालों में एक दिव्यांग है.  सेल्फी लेते समय दिव्यांग पटरियों के बीच में गिर गया और उसे बचाने के चक्कर में दूसरा भी ट्रेन की चपेट में आ गया. दोनों सुबह से घूमते हुए थाना रसूलपुर इलाके में रेलवे लाइन के पास पहुंच गए  और दोनों भाई रेलवे ट्रैक के पास ही मोबाइल से सेल्फी लेने लगे. तभी तेज गति से ट्रेन आई और दोनों चचेरे भाई ट्रेन की चपेट में आ गए. 

 सेल्फी लेते समय ट्रेन की चपेट में आए दो भाई
  • 3/6

प्रत्यक्षदर्शी धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि रेलवे ट्रक पर दो युवक सेल्फी ले रहे थे. जिसमें एक विकलांग था. तेज रफ्तार से ट्रेन आई और दोनों इसकी चपेट में आ गए. फिरोजाबाद के थाना रसूलपुर क्षेत्र के 30 फुटा रोड कोठी नवीगंज के रहने वाले सलमान (22) और वसीम (23) किसी काम से सब्जी मंडी जा रहे थे. 
 

 सेल्फी लेते समय ट्रेन की चपेट में आए दो भाई
  • 4/6

पुलिस को बताया कि दोनों युवक पटरी पर खड़े होकर सेल्फी लेने लगे और तभी पैरों से लाचार वैशाखी के सहारे चलने वाला सलमान पटरी से हटते समय वही गिर गया. जिसे बचाने के लिए उसका भाई वसीम आया इससे पहले की वो उसे उठा पाता इतने में ट्रेन आ गई और दोनों उसकी चपेट में आ गए.  दोनों की मौके पर ही मौत हो गई.  

सेल्फी लेते समय ट्रेन की चपेट में आए दो भाई
  • 5/6

इस घटना पर सीओ सिटी फिरोजबाद हरि मोहन ने बताया कि थाना सूलपुर इलाके में दो युवकों की ट्रेन से एक्सीडेंट में मौत हो गई है. शव का पंचनामा भरकर कार्रवाई की जा रही है. ट्रेन हावड़ा से दिल्ली जा रही थी. 

 सेल्फी लेते समय ट्रेन की चपेट में आए दो भाई
  • 6/6

घटनास्थल का निरीक्षण कर पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. युवकों की मौत की खबर पर उनके परिजन जिला अस्पताल पहुंचे गए. उन्होंने बताया कि सलमान दोनों पैरों से दिव्यांग था. इस दर्दनाक घटना के बाद परिवार में मातम का माहौल है.