scorecardresearch
 

अवैध टेलीफोन एक्सचेंजः यूपी एटीएस ने दिल्ली में की छापेमारी, सिमबॉक्स बरामद

यूपी एटीएस की टीम ने अवैध टेलीफोन एक्सचेंज मामले मुख्य आरोपी गुलशन सेन की निशानदेही पर दिल्ली के पंजाबी बाग इलाके में छापेमारी की. इस दौरान टीम ने मौके से 6 सिम बॉक्स बरामद किए हैं. एटीएस की टीम तीनों आरोपियों से लगातार पूछताछ कर रही है.

X
ATS की टीम तीनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है ATS की टीम तीनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है

यूपी एटीएस की टीम ने अवैध टेलीफोन एक्सचेंज मामले मुख्य आरोपी गुलशन सेन की निशानदेही पर दिल्ली के पंजाबी बाग इलाके में छापेमारी की. इस दौरान टीम ने मौके से 6 सिम बॉक्स बरामद किए हैं. एटीएस की टीम तीनों आरोपियों से लगातार पूछताछ कर रही है.

यूपी एटीएस और डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकम्यूनिकेशन की ज्वाइंट टीम ने अवैध टेलीफोन एक्सचेंज चलाने वाले गैंग का भंडाफोड़ किया था, उसका सरगना गुलशन सेन एटीएस के हत्थे चढ़ गया था. जो आईटी एक्सपर्ट के तौर पर अफगानिस्तान में पांच साल काम कर चुका है.

गुलशन के गिरफ्तारी के बाद एटीएस ने शिवेंद्र मिश्र और श्याम बाबु उर्फ़ वीरू को गिरफ्तार किया था. अब एटीएस तीनों आरोपियों को सात दिन की पुलिस कस्टडी में लेकर उनसे पूछताछ कर रही है. इसी के चलते गुलशन सेन से पूछताछ के दौरान पंजाबी बाग में एक ठिकाने का पता चला था.

उसी की निशानदेही पर एटीएस ने बुधवार को दिल्ली के पंजाबी बाग में छापा मारकर 6 सिम बॉक्स बरामद किए हैं. हर सिम बॉक्स में 78 सिम कार्ड लगे हुए हैं. गुलशन ने अवैध एक्सचेंज के उपकरण FIIT-JEE के पंजाबी बाग़ स्थित कार्यालय में बिजली के स्टोर में लगाए थे.

उल्लेखनीय है कि गुलशन सेन इस प्रतिष्ठान में टेक्नीकल हेड के रूप में काम करता था. अब यूपी एटीएस इस गैंग के आर्थिक स्रोत और पैसे के लेन देन का पता लगाने की कोशिश कर रही है. साथ ही इस गैंग के तकनीकी नेटवर्क की जांच भी की जा रही है.

UP ATS की टीम इस गैंग के नेटवर्क को जानने और उसे पूरी तरह से नष्ट करने के लिए साइबर एक्सपर्ट्स की मदद ले रही है. केंद्रीय एजेंसियां भी इन आरोपियों से पूछताछ कर रही हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें