scorecardresearch
 

ब्वॉयफ्रेंड के कारण ISIS में भर्ती हुई जर्मन लड़की!

जर्मनी की एक युवती संदिग्ध रूप से गायब है. पुलिस को शक है कि युवती ने कुख्यात आतंकी संगठन आईएसआईएस ज्वाइन कर लिया है. युवती के व्यवहार में एक ऑनलाइन दोस्त से मिलने के बाद काफी परिवर्तन आया था जिसके बाद से वो गायब है.

कुख्यात आतंकी संगठन आईएसआईएस कुख्यात आतंकी संगठन आईएसआईएस

जर्मनी की एक युवती संदिग्ध रूप से गायब है. पुलिस को शक है कि युवती ने कुख्यात आतंकी संगठन आईएसआईएस ज्वाइन कर लिया है. युवती के व्यवहार में एक ऑनलाइन दोस्त से मिलने के बाद काफी परिवर्तन आया था जिसके बाद से वो गायब है. घर पर उसने बताया था कि वो पास के ही एक दोस्त के घर कुछ दिनों के लिए रहने जा रही है, लेकिन उसके बाद से वो कभी वापस नहीं आई. इसके लिए उसने अपनी मां के पासपोर्ट का इस्तेमाल किया है.

जानकारी के मुताबिक, पूर्वी जर्मनी के पुल्सनित्ज इलाके में 15 वर्षीय लिंडा वेंजेल और उसका परिवार रहता है. उसका एक मुस्लिम ब्वॉयफ्रेंड है. ब्वॉयफ्रेंड से उसकी मुलाकात कुछ दिनों पहले ही एक सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट के जरिए हुई थी. हाल के दिनों में युवती के स्वभाव में कई प्रकार के परिवर्तन देखने को मिला था. उसने लोगों से अरबी में बात करना शुरू कर दिया था. अपने स्कूल में कुरान लेकर जाती थी. उसने लंबे कपड़े पहनने शुरू कर दिए थे.

सूत्रों के अनुसार, एक दिन उसने अपनी मां से कहा कि वो अपने दोस्त के घर कुछ दिनों के लिए जा रही है, लेकिन उसके बाद से कभी वापस नहीं आई. ऐसा करने के लिए उसने अपनी मां के पहचान पत्र का इस्तेमाल किया था. वो पहले इंस्तांबुल गई और फिर वहां से सीरिया. ये बात उसके आईएसआईएस में शामिल होने के शक को पुख्ता करती हैं. उसने बैंक से अपने सारे पैसे निकाल लिए थे. इसके बाद घरवालों ने पुलिस को सूचित किया था.

इस मामले में पुलिस का कहना है कि जब वो काफी दिन तक वापस नहीं आई तो मां ने उन्हें को सूचना दी. युवती के कमरे में तलाशी के दौरान उन्हें इंस्तांबुल का टिकट मिला. पुलिस को शक है कि युवती के ब्वॉयफ्रेंड ने ही उसका ब्रेनवॉश करके उकसाया है. फिलहाल पुलिस अभी युवती के सोशल नेटवर्किंग प्रोफाइल की तलाशी में जुटी है, जिससे उसके ब्वॉयफ्रेंड की पहचान हो सके. इस मामले में पुलिस साइबर एक्सपर्ट की भी मदद ले रही है.

बताते चलें कि हाल के दिनों में दुनिया भर के युवाओं को शामिल करने के लिए इस्लामिक स्टेट ने सोशल नेटवर्किेंग साइट्स के प्रयोग पर जोर दिया है. इसके अलावा आईएसआईएस के आकाओं ने अपने शागिर्दों को एक लिस्ट भी जारी की है. इस लिस्ट में बताया गया है कि उन्हें किस सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट का प्रयोग करना है. आपस में जानकारी साझा करने के लिए किस तरह से मेल भेजने है. ताकि वो खुफिया एजेंसियों की नज़र से बच सकें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें