scorecardresearch
 
साइबर क्राइम

फर्रुखाबाद: प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के नाम पर किसानों से लाखों की ठगी, ऐसे पकड़े गए साइबर अपराधी

 पुलिस ने साइबर अपराधियों को पकड़का (फोटो आजतक)
  • 1/6

यूपी के फर्रुखाबाद पुलिस ने एक अंतर्राज्यीय साइबर गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है जो प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के नाम पर किसानों से ठगी कर उनके बैंक खातों से लाखों रुपये की ठगी करते थे. फिलहाल गिरोह के दो लोग पुलिस के हत्थे चढ़े हैं, वहीं इनके एक साथी की पुलिस को तलाश है. 

पुलिस ने साइबर अपराधियों को पकड़का (फोटो आजतक)
  • 2/6

अन्तर्राज्यीय साइबर गिरोह ने फर्रुखाबाद सहित प्रदेश के आधा दर्जन जनपदों में किसानों के साथ लाखों की ठगी की है. फर्रुखाबाद जनपद में किसानों के साथ किसान सम्मान निधि के नाम पर ठगी होने की पुलिस को लगातार शिकायतें मिल रही थी. आखिर में पुलिस ने किसानों के साथ ठगी का मामला दर्ज कर जांच शुरू की.

(प्रतीकात्मक फोटो)
  • 3/6

कड़ी मेहनत के बाद पुलिस ने कन्नौज निवासी प्रभाकर और दीपू को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए दोनों लोग किसानों से सरकारी कर्मचारी बनकर किसान सम्मान निधि के नाम पर धोखा-धड़ी कर किसानों से अंगूठा लगाने वाली मशीन पर अंगूठा लगवा लेते थे और उनके आधार कार्ड व बैंक खाते की कापी भी ले लेते थे फिर किसानों के बैंक खातों से रुपया आधार कार्ड के जरिए निकाल लेते थे. 

(प्रतीकात्मक फोटो)

(प्रतीकात्मक फोटो)
  • 4/6

इस गिरोह ने फर्रुखाबाद सहित प्रदेश के आधा दर्जन जनपदों में किसानों के साथ लाखों रुपये की धोखाधड़ी की थी. आखिर में पुलिस ने कड़ी मेहनत के बाद दो लोगों को गिरफ्तार किया है. वहीं इनके दो साथी फरार है जिनकी पुलिस को तलाश है. 

(फाइल फोटो)

पुलिस अधीक्षक अशोक मीणा  (फोटो आजतक)
  • 5/6

पुलिस अधीक्षक अशोक मीणा का कहना है कि फर्रुखाबाद पुलिस ने एक ऐसे अंतरराज्यीय गिरोह के दो लोगों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है जो किसान सम्मान निधि के नाम पर किसानों से धोखा धड़ी कर उनके बैंक खातों से रुपया निकाल लेते थे. इन लोगों ने अभी लगभग 1 लाख 15 हजारल रुपए से अधिक का घोटाला कर किसानों को चुना लगाया है. यह गिरोह अंतर्राज्यीय स्तर का है. 

(प्रतीकात्मक फोटो)
  • 6/6

इस गिरोह ने फर्रुखाबाद सहित आसपास के जिलों में किसानों के साथ धोखाधड़ी कर उनके लाखो रुपये खातों से निकाले हैं. पुलिस ने दीपू व प्रभाकर को गिरफ्तार किया है, वहीं इनके दो साथी फरार हैं. ये लोग सरकारी कर्मी बनकर किसानों को किसान सम्मान निधि के नाम पर आधार कार्ड व बैंक कापी लेकर अंगूठा लगाने वाली मशीन पर अंगूठा का निशान लेकर उनके बैंक खातों से पैसा निकाल लेते थे.