scorecardresearch
 

कौन ले गया 15 लाख की भैंसे?

दिल्ली पुलिस आजकल भैंसों के पीछे भाग रही है. ना सिर्फ भाग रही है बल्कि दिल्ली पुलिस के 10 जवान 9 भैंसों की तलाश में दिन-रात तबेले-तबेले भटक रहे हैं. खबर है कि कमिश्नर साहब ने खुद पुलिस वालों को चोरी हुई 9 भैंसों को ढूंढने के लिए कहा है. भैंसों को ढूंढने के लिए तीन महीने से पुलिस के जवान परेशान हैं.

पुलिस ने 100 भैंसों की तस्वीर व्हाट्सअप पर इक्ट्ठा की हैं पुलिस ने 100 भैंसों की तस्वीर व्हाट्सअप पर इक्ट्ठा की हैं

दिल्ली पुलिस आजकल भैंसों के पीछे भाग रही है. ना सिर्फ भाग रही है बल्कि दिल्ली पुलिस के 10 जवान 9 भैंसों की तलाश में दिन-रात तबेले-तबेले भटक रहे हैं. खबर है कि कमिश्नर साहब ने खुद पुलिस वालों को चोरी हुई 9 भैंसों को ढूंढने के लिए कहा है. भैंसों को ढूंढने के लिए तीन महीने से पुलिस के जवान परेशान हैं.

दरअसल, मामला बाहरी दिल्ली के अमन विहार इलाके का है. यहां एक तबेले से 9 भैंसों की चोरी हुई है. या यूं कहें कि जबरन यहां से बदमाश भैंसों को लूटकर ले गए. मामला सिर्फ भैंसों का नहीं बल्कि पंद्रह लाख रुपये का है. पंद्रह लाख की भैंसों की चोरी की ये घटना अपने आप में कितनी हैरान करने वाली है.

बदमाशों ने भैंसों को दिया नशे का इंजेक्शन
तबेले के मालिक सतीश कुमार के मुताबिक, 14-15 मई की रात करीब ढाई से तीन बजे के बीच उसके तबेले में 10-12 लोग डंडे लेकर जबरन घुस आए. उन्होंने नौकर के हाथ-पैर बांधकर बुरी तरह पीटा और एक कोने में डाल दिया. इसके बाद सभी बदमाशों ने भैंसों को इंजेक्शन लगाकर उन्हें नशे में कर दिया ताकि वो घबराकर इधर-उधर ना भागें. बदमाशों ने भैंसों को कपड़े से ढका और एक-एक करके उन्हें ट्रक में लादकर फरार हो गए. सतीश ने बताया कि बदमाश उसकी 8 भैंसें और एक भैंस का बच्चा ले गए.

तबेले से सिर्फ भैंस नहीं बल्कि 15 लाख की संपत्ति गई है. 15 लाख की भैंसों की चोरी की घटना पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी तक पहुंची. इसके बाद दिल्ली पुलिस के हेडक्वार्टर से एक ऐसा आदेश जारी हुआ जिसके बाद 9 भैंसों की तलाश में पुलिस के पसीने छूटने लगे.

100 भैंसों की तस्वीर व्हाट्सअप पर
करीब तीन महीने हो चुके हैं, लेकिन 9 में से एक भी भैंस का सुराग तक नहीं मिल सका है. दिल्ली पुलिस 100 भैंसों की तस्वीरें खींचकर व्हाट्सएप भी कर चुकी है. लेकिन अफसोस इनमें वो भैंसें नहीं मिलीं जो चोरी हुई है.

भैंसों की चोरी के बाद से सतीश कुमार आर्थिक रूप से बदहाल हो चुके हैं. जो कल तक डेयरी मालिक था, आज वो मजबूरी में नौकरी कर रहा है. सतीश बताते हैं कि चोरी हुई हर एक भैंस की कीमत 2.50 लाख रुपये है. ढाई लाख कीमत वाली भैंस 20 लीटर दूध देती थी. डेयरी मालिक के मुताबिक, बदमाश भैंसों को एक ट्रक में ले गए. इस वारदात की शिकायत पुलिस कमिश्नर बस्सी से की गई. बस्सी ने नॉर्दर्न रेंज के ज्वॉइंट सीपी संजय सिंह को मामला सौंपा. संजय सिंह ने बाहरी दिल्ली के डीसीपी विक्रम सिंह को भैंस चोरों का पता लगाने को कहा. डीसीपी ने भैंसों का पता लगाने के लिए स्पेशल टीम बनाई. दिल्ली पुलिस के 10 तेज तर्रार जवान भैंसों की तलाश में लगाए गए. 2 इंसपेक्टर भैंसों को ढूंढने वाली टीम को मॉनिटर कर रहे हैं.

भैंसों की चोरी का ये मामला दिल्ली में सुर्खियों में है क्योंकि पहली बार ऐसा हुआ है, जब देश की राजधानी की पुलिस भैंसों की तलाश में तीन महीने से परेशान है और भैंसें हैं कि ना जाने कहां गायब हो गईं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें