scorecardresearch
 

खौफनाक वारदातः अवैध संबंध, विवाहित प्रेमिका और एक कत्ल की 'जहरीली' साजिश!

छानबीन में ये भी पता चला कि सुबोध देवी की बहू अल्पना के मनीष मीणा नाम के किसी लड़के के साथ प्रेम संबंध भी हैं. और अक्सर इसी बात को लेकर अल्पना की अपनी सास के साथ अनबन भी हुआ करती थी. अब पुलिस की तफ्तीश अल्पना के इर्द-गिर्द घूमने लगी.

आरोपी मनीष और अल्पना ने मिलकर ये खौफनाक साजिश रची थी आरोपी मनीष और अल्पना ने मिलकर ये खौफनाक साजिश रची थी

क़त्ल का ऐसा मामला आम तौर पर सुनने को नहीं मिलता. जब कोई किसी की जान लेने के लिए सांप को हथियार के तौर पर इस्तेमाल करे और उससे डसवा कर किसी का क़त्ल कर दे. सुप्रीम कोर्ट से किसी मामले में आरोपियों की ज़मानत की अर्ज़ी खारिज हो जाना कोई मामूली बात नहीं होती. क्योंकि आम तौर पर मामला सुप्रीम कोर्ट में पहुंचता ही तब है, जब मामले में लोअर कोर्ट और हाई कोर्ट भी मुल्ज़िमों को ज़मानत देने से इनकार कर दे और ऐसा तभी होता है, जब मामला बेहद संगीन और अजीब हो. राजस्थान के झुंझनू में हुए एक महिला के क़त्ल का ये मामला कुछ ऐसा ही है.

2 जून 2019, गांव सागवा, झुंझनू, राजस्थान

हमेशा की तरह उस रोज़ भी रात के खाने के बाद सुबोध देवी अपने कमरे में सोने चली गई. लेकिन सुबह वो देर तक अपने बिस्तर से नहीं उठी. उनकी बहू अल्पना को ये देखकर हैरानी हुई. वो सास के कमरे में उन्हें जगाने पहुंची, लेकिन अंदर का मंज़र देख कर उसकी चीख़ निकल गई. उसकी सास बिस्तर पर बिल्कुल बेसुध पड़ी थी और कमरे में ही कोने पर एक ज़हरीला सांप कुंडली मारे बैठा था. उसने फ़ौरन आस-पड़ोस के लोगों को ख़बर दी. पड़ोसियों ने भी सुबोध देवी को उठाने की काफी कोशिश की, लेकिन उनके जिस्म में कोई हरकत नहीं थी और तब लोगों ने किसी तरह उन्हें अस्पताल पहुंचाया. लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें मुर्दा करार दे दिया. 

उधर, सुबोध देवी के कमरे में मौजूद सांप को किसी सपेरे की मदद से पकड़वा कर लोगों ने उनके घर से दूर फिंकवा दिया. यकीनन मामला सांप के काटने से हुई मौत का ही था. लिहाज़ा सुबोध देवी के फ़ौजी बेटे और पति के घर लौटने के बाद उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया. घर के दूसरे लोगों के साथ-साथ खुद पुलिस भी इस मामले को एक हादसा मान कर इस केस की फ़ाइल क्लोज़ कर चुकी थी. लेकिन एक महीने के बाद सुबोध देवी के घरवालों ने एक ऐसी बात सुनी कि उनका दिमाग़ घुम गया. 

इसे भी पढ़ें--- गाजियाबाद: मंदिर के पुजारी के कमरे से चिंकारा हिरण की खाल बरामद, गिरफ्तार 

असल में घर की बहू अल्पना फोन पर किसी से ये कह रही थी कि सुबोध देवी की मौत के रोज़ तुम्हें और तुम्हारे दोस्त को किसी ने देख तो नहीं लिया? क्योंकि अगर किसी ने उन्हें देखा है, तो बड़ी मुसीबत हो जाएगी. और बस, यही वो बात थी जिसने पूरे मामले को पलट दिया. सुबोध के पति राजेश ने अब पुलिस में अपनी बहू अल्पना के खिलाफ़ शक जताते हुए अपनी बीवी की मौत के मामले में नए सिरे से तहरीर दी और पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी. 

मोबाइल पर कुल 124 बार बात

छानबीन में ये भी पता चला कि सुबोध देवी की बहू अल्पना के मनीष मीणा नाम के किसी लड़के के साथ प्रेम संबंध भी हैं. और अक्सर इसी बात को लेकर अल्पना की अपनी सास के साथ अनबन भी हुआ करती थी. अब पुलिस की तफ्तीश अल्पना के इर्द-गिर्द घूमने लगी. तफ्तीश के दौरान जब पुलिस ने अल्पना के मोबाइल फ़ोन की कॉल डिटेल्स निकलवाई, तो रिकॉर्ड देख कर चौंक उठी. 2 जून 2019 यानी जिस रोज़ उसकी सास सुबोध देवी की मौत हुई थी, उस रोज़ अल्पना ने अपने प्रेमी मनीष मीणा से मोबाइल पर कुल 124 बार बात की थी, जबकि मनीष के एक दोस्त कृष्णा के साथ 19 बार. 

अब अल्पना के साथ-साथ उसका प्रेमी मनीष भी पुलिस की रडार पर आ चुका था. अब पुलिस ने बग़ैर देर किए, उसे हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी. इस इंटेरोगेशन में मनीष ने जो कहानी सुनाई, उसे जानकर हर कोई हैरान रह गया. मनीष ने अपनी प्रेमिका यानी सुबोध की बहू अल्पना के साथ मिल कर उसकी सास की सांप के डसवा कर जान लेने की बात कबूल कर ली. असल में अल्पना की सास दोनों के इस रिश्ते से नाराज़ रहती थी और आख़िरी बार उन्होंने अपने बेटे को अल्पना की ये करतूत बता देने की धमकी दी थी और बस इसी के बाद अल्पना और मनीष ने सुबोध देवी का क़त्ल का फैसला कर लिया था.

असल में अल्पना, जांगिड़ परिवार की बड़ी बहू थी. उसकी शादी घर के बड़े बेटे सचिन के साथ 12 दिसंबर 2018 को हुई थी. सचिन एयर फोर्स में है और उसकी पोस्टिंग राजस्थान से बाहर थी. जबकि अल्पना और उसका प्रेमी मनीष एक दूसरे को स्कूल के ज़माने से ही जानते थे. मगर, शादी के बाद अल्पना एक बार फिर मनीष के करीब आ चुकी थी और दोनों घंटों फोन पर बातें करने लगे, चोरी छुपे एक दूसरे से मिलने लगे. जब अल्पना की सास को इस बात का पता चला, तो उसने अल्पना को रोकना-टोकना शुरू कर दिया और यहीं से अल्पना सास के क़त्ल की साज़िश रचने लगी. साज़िश थी सांप से डसवा कर जान लेने की, ताकि किसी को इस मौत पर कोई शक ना हो.

ज़रूर पढ़ें--- राजस्थान: 'घर में घुसा, रेप किया और धमकी देने लगा', दलित महिला का पुलिसकर्मी पर आरोप 

2 जून 2019 को अल्पना ने रात को अपनी सास को बनाना शेक में नींद की गोलियां मिला कर खिला दीं. उधर, साज़िश के मुताबिक रात को मनीष चुपके से एक ज़हरीला सांप लेकर अल्पना के घर पहुंच गया. मनीष ने सिर्फ़ अल्पना की सास के क़त्ल के लिए ही ये सांप पूरे दस हज़ार रुपये में एक सपेरे से खरीदा था. लेकिन कमरे में पहुंचने के बाद जब दोनों को लगा कि पता नहीं सांप उसकी सास को काटे या ना काटे, दोनों ने पहले तकिए से सांस रोक कर सुबोध की जान ली और फिर कमरे में ज़हरीला सांप भी छोड़ दिया. फिर सुबह साज़िश के मुताबिक अल्पना ने सास को सांप काट लेने का ड्रामा शुरू कर दिया. क़रीब महीने भर तक तो पूरी साज़िश सही साबित हुई, लेकिन फ़ोन पर अल्पना की अपने प्रेमी से की जा रही बातचीत ने उसकी पोल खोल दी.

सुबोध के जिस्म में सांप का ज़हर मिलने की भी पुष्टि

अब तक पूछताछ में मनीष के साथ-साथ अल्पना भी अपना जुर्म कुबूल कर चुकी थी. दोनों के साथ-साथ इस मामले में उनके एक और साथी कृष्णा को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. उधर, क़रीब महीने भर बाद जब इस सिलसिले में एफआईआर दर्ज होने के बाद नए सिरे से तफ्तीश शुरू हुई, तो पुलिस ने अंतिम संस्कार के बाद शेष बची सुबोध की कुछ हड्डियों को फॉरेंसिक जांच के लिए भिजवाया. 

आपको जानकर हैरानी होगी कि इस जांच में सुबोध के जिस्म में सांप का ज़हर मिलने की भी पुष्टि हो गई. यानी सुबोध का क़त्ल दोनों ने बेशक सांस रोक कर किया हो, लेकिन उस रात कमरे में छोड़े गए ज़हरीले सांप ने भी सुबोध देवी को काट लिया था. अब इस मामले में प्रेमी मनीष के दोस्त की कृष्ण कुमार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में ज़मानत की अर्ज़ी दी गई थी, लेकिन अदालत ने उस अर्ज़ी को भी खारिज कर दिया.

ज़ाहिर है, अदालत की नज़र में ये कोई मामूली केस नहीं है. मामले के तीनों आरोपी फिलहाल सलाखों के पीछे हैं, लेकिन लोगों को इंतज़ार है, उस घड़ी का. जब तीनों गुनहगार करार दिए जाएंगे और क़त्ल के इस अजीब मामले में तीनों को कड़ी सज़ा होगी.

(झुंझनू से नैना शेखावत का इनपुट)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें