scorecardresearch
 

मर्डर मिस्ट्री: कौन है हरियाणवी सिंगर हर्षिता का कातिल?

आवाज की दुनिया में उसकी अलग पहचान थी, लोक गायिकी में वो एक मकाम रखती थी. हरियाणा में एक कार्यक्रम में अपनी सुरीली गायकी से सैकड़ों श्रोताओं को मंत्रमुग्ध करने के बाद ये सिंगर वापस घर लौट रही थी, मगर रास्ते में अचानक एक कार ने उसकी कार का रास्ता रोका. कार में सिंगर के साथ बैठे उसके तीन साथियों को बाहर निकाला और फिर बेहद करीब से सिंगर की कनपटी पर एक के बाद क चार गोली मारी.

पुलिस मामले की छानबीन कर रही है पुलिस मामले की छानबीन कर रही है

आवाज की दुनिया में उसकी अलग पहचान थी, लोक गायिकी में वो एक मकाम रखती थी. हरियाणा में एक कार्यक्रम में अपनी सुरीली गायकी से सैकड़ों श्रोताओं को मंत्रमुग्ध करने के बाद ये सिंगर वापस घर लौट रही थी, मगर रास्ते में अचानक एक कार ने उसकी कार का रास्ता रोका. कार में सिंगर के साथ बैठे उसके तीन साथियों को बाहर निकाला और फिर बेहद करीब से सिंगर की कनपटी पर एक के बाद क चार गोली मारी. हम आपको बता रहे हैं सिंगर हर्षिता की मौत की कहानी.

हरियाणा की जानी-पहचानी लोक गायिका हर्षिता ने अपनी अदाओं के जलवे बिखेरे थे. लटके-झटकों के सैकड़ों लोगों का दिल जीता था. लेकिन पानीपत में हुए एक शानदार कार्यक्रम के बाद क़ातिलों की गोलियों ने अचानक ही उसे छलनी कर दिया. मंगलवार को एक प्रोग्राम के बाद वो अपनी कार में तीन साथियों के साथ पानीपत से दिल्ली के लिए निकली ही थी कि पानीपत-रोहतक रोड पर एक गांव के नज़दीक पीछे से आई एक कार ने लोक गायिका हर्षिता दाहिया की कार को ओवरटेक कर रुकवा लिया और कार से बाकी के तीन लोगों को नीचे उतार कर बिल्कुल क़रीब से हर्षिता की कनपटी पर एक-एक कर चार गोलियां मार दीं.

क़ातिल एक नीले रंग की फोर्ड फीगो कार में आए थे और उनकी तादाद भी चार थी. इतने भयानक और बेख़ौफ़ तरीक़े से हुए क़त्ल की एक वारदात अपने-आप में पूरे हरियाणा को दहला देने के लिए काफ़ी थी. ऊपर ये क़त्ल किसी गुमनाम शख्स का नहीं, बल्कि दिल्ली और हरियाणा के लाखों जवां दिलों की धड़कन सिंगर गीता उर्फ हर्षिता दाहिया का था, जिसने हरियाणा के साथ-साथ पास की दिल्ली में भी सनसनी फैला दी. वैसे भी हर्षिता का जितना ताल्लुक हरियाणा से था, उतना ही दिल्ली से भी. वो मूल रूप से बेशक हरियाणा की थी, लेकिन रहती दिल्ली के नरेला इलाक़े में थी.

हर्षिता के क़त्ल के इस मामले को समझने के लिए सोशल मीडिया पर उसकी तरफ़ से डाले जाने वाले कुछ वीडियोज़ को देखना और समझना ज़रूरी है. जिनमें वो किसी गुमनाम शख्स को चुनौती देती दिखाई देती है. लेकिन सवाल ये है कि आख़िर हर्षिता का क़त्ल किसने और क्यों किया? वो एक के बाद एक ऐसे ललकारने वाले वीडियोज़ सोशल साइट पर क्यों डालती थी? हर्षिता आख़िर अपने किस दुश्मन को लगातार लंबे वक़्त से ललकार रही थी? और क्या हर्षिता का क़त्ल भी उसी दुश्मन ने किया, जिसे वो ललकारती थी? या फिर इस क़त्ल के पीछे किसी और का हाथ है और क्यों?

तो इन सवालों के जवाब जानने के लिए हर्षिता के इन वीडियोज को देखना और समझना जितना ज़रूरी है, उसकी ज़िंदगी में झांकना भी शायद उतना ही अहम है. फिलहाल पानीपत पुलिस यही कर रही है. लेकिन बेहद रहस्यमयी तरीक़े से बीच सड़क सरेशाम हुई एक लड़की के क़त्ल की ये वारदात जितनी डरावनी है, इसके राज़ शायद उतने ही गहरे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें