scorecardresearch
 

मुंबई: NCB को मिली बड़ी सफलता, दाउद इब्राहीम के गुर्गों की ड्रग फैक्ट्री पर मारा छापा

इस फैक्ट्री में बड़े स्तर पर मेफेड्रोन ड्रग का उत्पादन किया जा रहा था. एनसीबी ने यहां से बड़ी मात्रा में मेफेड्रोन ड्रग बनाने के लिए रखे रॉ मटेरियल को जब्त कर लिया है.

NCB ने मुंबंई में ड्रग की एक बड़ी फैक्ट्री पर छापा मारा है (फाइल फोटो) NCB ने मुंबंई में ड्रग की एक बड़ी फैक्ट्री पर छापा मारा है (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ये फैक्ट्री ड्रग माफिया चिंकू पठान के सहयोगी चला रहे थे
  • चिंकू पठान दाउद इब्राहिम का सहयोगी है
  • दाउद के सहयोगी आरिफ की 'ड्रग लैब' का भी भंडाफोड़

मुंबई में ड्रग के खिलाफ छेड़ी मुहिम में एनसीबी (Narcotics Control Bureau) को एक बड़ी सफलता मिली है. मुंबई के कोने-कोने में एनसीबी द्वारा छापेमारी की जा रही है. गुरुवार की सुबह से शुरू हुए एक ऑपरेशन में एनसीबी ने दक्षिणी मुंबई के केंद्र में स्थित एक ड्रग फैक्ट्री का भंडाफोड़ कर दिया है. ये ऑपरेशन अभी भी जारी है. इस फैक्ट्री से जुड़े नामों, इसके नेटवर्क की जांच की जा रही है. इस फैक्ट्री में बड़े स्तर पर मेफेड्रोन ड्रग उत्पादन का किया जाता था. एनसीबी ने यहां से बड़ी मात्रा में मेफेड्रोन ड्रग बनाने के लिए रखे रॉ मटेरियल को जब्त कर लिया है.

ये फैक्ट्री ड्रग माफिया और गैंगेस्टर चिंकू पठान उर्फ परवेज खान के सहयोगियों द्वारा चलाई जा रही थी. एनसीबी के अधिकारीयों ने यहां से ड्रग के अलावा फायर आर्म्स और बड़ी मात्रा में कैश की बरामदगी की है, जिसकी कीमत करोड़ों में बताई जा रही है. आपको बता दें 20 जनवरी, 2021 के दिन NCB ने गैंगेस्टर चिंकू पठान को भी गिरफ्तार कर लिया था.

देखें: आजतक LIVE TV

इंडिया टुडे ने पहले भी इस बात का खुलासा किया था कि मुंबई के बड़े ड्रग डीलरों में से एक चिंकू पठान, दाउद इब्राहिम गैंग का भी सहयोगी है. पठान मुंबई और मुंबई के आसपास के क्षेत्र में होने वाली मेफेड्रोन ड्रग की सप्लाई का लगभग 70 प्रतिशत हिस्सा सप्लाई करता है. एनसीबी द्वारा इस फैक्ट्री और उसके सहयोगियों के इंटरनेशनल कनेक्शन की जांच की जा रही है. पठान के सहयोगी इंटरनेशनल ड्रग कार्टल से जुड़े हुए हैं, इनके इंटरनेशनल क्लाइंट्स भी हैं.

इसी प्रकार एनसीबी द्वारा भिवंडी में भी छापेमारी मारी गई जहां रोहित वर्मा नाम के एक शख्स को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है जो चिंकू पठान का ही एक सप्लायर है. रोहित वर्मा डीजे का भी काम करता है. तीसरा छापा डोंगरी नामक जगह पर 50 साल के आरिफ भुजवाला (Arif Bhujwala) के घर पर मारी गई.

आरिफ एक पूरी की पूरी 'ड्रग लैब' चला रहा था. सूत्रों के मुताबिक आरिफ महाराष्ट्र में मेफेड्रोन का एक बड़ा सप्लायर है. लेकिन वह घर की खिड़की से भागने में सफल रहा, क्योंकि उसके परिवार ने एनसीबी की टीम को गलत जानकारी देकर देकर उसे घर से निकलने में मदद की. लेकिन आरिफ के घर से और उसकी लैब से NCB की टीम ने ड्रग जब्त कर ली है. यहां से टीम को कुछ अवैध हथियार भी मिले हैं.

भुजवाला का संबंध मिडिल ईस्ट और दुबई जैसे देशों में भी है, उसके पास मर्सडीज और बीएमडब्लू जैसी महंगी-महंगी गाड़ियां भी हैं. भुजवाला दाउद इब्राहिम की गैंग के अंदर काम करता है. इस छापेमारी के दौरान एनसीबी चिंकू पठान को भी साथ ले गई थी. ऐसा मुंबई में पहली बार है कि ड्रग से संबंधित किसी लैब का भंडाफोड़ किया गया है. एनसीबी के अधिकारियों ने बताया कि ये अब तक का सबसे बड़ा ड्रग भंडाफोड़ हो सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें