scorecardresearch
 

बलिया गोलीकांड का आरोपी अब तक फरार, सप्लाई इंस्पेक्टर को धमकी देने वाला ऑडियो वायरल

बलिया गोलीकांड का मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ डब्ल्यू का एक ऑडियो वायरल हो रहा है जिसमें वह राशन की दो दुकानों के आवंटन को लेकर तत्कालीन आपूर्ति निरीक्षक को धमकी दे रहा है.

बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह के साथ मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह (फाइल फोटो) बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह के साथ मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • गोलीकांड में मुख्य आरोपी का ऑडियो वायरल
  • 2019 का ऑडियो, सप्लाई इंस्पेक्टर को दी धमकी
  • राशन की दो दुकानों के आवंटन को दी धमकी

बलिया गोलीकांड का मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ डब्ल्यू का एक ऑडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वह राशन की दो दुकानों के आवंटन को लेकर तत्कालीन आपूर्ति निरीक्षक को धमकी दे रहा है. 

यह ऑडियो 15 मई 2019 का है, जिसमें धीरेंद्र प्रताप सिंह एरिया के सप्लाई इंस्पेक्टर दुर्गा यादव को धमकी दे रहा है. ऑडियो में सप्लाई इंस्पेक्टर से बात करते हुए वह विधायक का नाम ले रहा है. धीरेंद्र प्रताप विधायक का नाम लेकर सप्लाई इंस्पेक्टर पर दवाब बना रहा है और अधिकारी के खिलाफ गुस्से में अपशब्द कहने के अलावा देख लेने की धमकी भी दे रहा है.

धमकी से परेशान, कराया तबादला
 

यह विवाद बैरिया प्रखंड में राशन आपूर्ति की दो दुकानों के आवंटन से संबंधित था. ऑडियो से जाहिर हो रहा है कि धीरेंद्र प्रताप गाली गलौज की भाषा में सप्लाई इंस्पेक्टर से बात कर रहा है, उन्हें धमकी दे रहा है. इस धमकी को लेकर बाद में दुर्गा यादव ने बैरिया पुलिस थाने में एक प्राथमिकी दर्ज कराई थी, जिसमें बाद में चार्जशीट भी दायर की गई. बताया जा रहा है कि इन धमकियों से आजीज आकर सप्लाई इंस्पेक्टर ने अपना कहीं और तबादला करा लिया था.

सिपाही सस्पेंड

बलिया गोलीकांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह को पकड़कर छोड़ने के मामले में एक सिपाही को सस्पेंड किया गया है. इस मामले में सिपाही रूपेश पांडे को सस्पेंड किया गया है.

देखें: आजतक LIVE TV


बता दें कि बलिया गोलीकांड में मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह सहित 6 वांछितों के खिलाफ पुलिस ने 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है. 15 अक्टूबर को रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गांव में हुई घटना के संबंध में फरार आरोपियों पर ये इनाम राशि घोषित की है. वहीं आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह ने खुद वीडियो जारी कर दावा किया था कि उसने कोई गोली नहीं चलाई. 

आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह के समर्थन में स्थानीय बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह पूरी तरह उतर आए हैं. आरोपी के समर्थन में शनिवार को विधायक ने पुलिस से भी मुलाकात की. विधायक ने चेतावनी दी है कि अगर दूसरे पक्ष के खिलाफ एफआईआर नहीं हुई तो वो धरना देंगे. इसके साथ ही विधायक ने मामले को जातीय रंग भी दिया है. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें