scorecardresearch
 

विसरा रिपोर्ट से खुलासा- जहर से हुई थी सुनंदा पुष्कर की मौत, FBI ने एम्स की रिपोर्ट पर लगाई मुहर

सुनंदा पुष्कर की मौत का राज खुल गया है. सुनंदा की मौत की वजह जहर था. एम्स ने इस मामले में अपनी फाइनल रिपोर्ट दिल्ली पुलिस को सौंप दी है.

X
सुनंदा की मौत का राज अभी तक खुला नहीं है
सुनंदा की मौत का राज अभी तक खुला नहीं है

दिल्ली पुलिस ने सुनंदा पुष्कर की मौत का राज खोल दिया है. पुलिस के मुताबिक सुनंदा की मौत जहर की वजह से हुई थी. इस बात का खुलासा एम्स से फाइनल रिपोर्ट मिलने के बाद हुआ है. जहर कौन सा था, ये अभी साफ़ नहीं है. लेकिन 2014 में सुधीर गुप्ता ने पॉलोनियम 210 जैसा जहर होने की संभावना जताई थी.

एफबीआई ने अपनी रिपोर्ट में एम्स की पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर मुहर लगाई है. यह रिपोर्ट 2014 में डॉ. सुधीर गुप्ता ने दी थी. एफबीआई ने भी अपनी जांच रिपोर्ट में कहा कि सुनंदा की मौत जहर से हुई थी. एम्स के मेडिकल बोर्ड ने सुनंदा पुष्कर की मौत पर अपनी फाइनल रिपोर्ट दिल्ली पुलिस को सौंप दी है. इससे पहले बोर्ड ने एफबीआई की फॉरेंसिक रिपोर्ट का गहन अवलोकन किया है.

सुनंदा एक होटल में मृत पाई गई थी

एफबीआई ने की थी विसरा की जांच
सुनंदा पुष्कर की हत्या के बाद उनका विसरा जांच के लिए अमेरिका की एजेंसी एफबीआई को भेजा गया था. एफबीआई ने विसरा की जांच रिपोर्ट नौ महीने बाद दिल्ली पुलिस को सौंप दी थी. लेकिन एफबीआई की रिपोर्ट पर एम्स को अपनी राय देने के लिए कहा गया था.

सुनंदा की मौत की पहेली उलझी हुई है

एम्स ने बनाया था बोर्ड
इस काम के लिए एम्स में डॉक्टरों का एक बोर्ड गठित किया गया था. बोर्ड को एफबीआई की फॉरेंसिक रिपोर्ट का अवलोकन कर फाइनल रिपोर्ट देनी थी. शुक्रवार को एम्स की तरफ से दिल्ली पुलिस को रिपोर्ट सौंप दी गई. यह इस मामले की फाइनल रिपोर्ट है.

थरूर से हो सकती है पूछताछ
इस मामले की जांच के लिए गठित एस.आई.टी. के सूत्रों का मानना है कि जल्द ही इस मामले में सुनंदा पुष्कर के पति कांग्रेस नेता शशि थरूर से पूछताछ की जा सकती है.

सुनंदा की मौत से पर्दा हट सकता है

खुलेगा सुनंदा की मौत का राज
मामले से जुड़े शीर्ष सूत्रों का कहना है कि इस रिपोर्ट का काफी महत्व है. यदि एम्स की यह रिपोर्ट निर्णायक है, तो यह इस हत्याकांड के निष्कर्ष तक पहुंचने में मदद करेगी. दरअसल, इस मामले में इससे पहले कुछ चीजें उपलब्ध नहीं थी. जिसकी वजह से यह जांच बाधित हो रही थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें