scorecardresearch
 

बंगाल सरकार को खराब कोरोना टेस्ट किट देने के आरोप पर देखें ICMR ने क्या जवाब दिया

बंगाल सरकार को खराब कोरोना टेस्ट किट देने के आरोप पर देखें ICMR ने क्या जवाब दिया

पश्चिम बंगाल सरकार ने रविवार को केंद्र सरकार पर ख़राब कोरोना वायरस टेस्ट किट देने का आरोप लगाया था. राज्य सरकार की ओर से जारी ट्वीट में आईसीएमआर-नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ कॉलेरा एंड इंटेरिक डिज़ीज़ेज़ पर ख़राब टेस्ट किट भेजने का आरोप लगाया, जिसकी वजह से बार-बार परिणाम गलत आ रहे हैं. सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस में आईसीएमआर के डिप्टी डायरेक्टर रमन गंगाखेड़कर ने इस मामले में जवाब देते हुए कहा बंगाल से कुछ शिकायतें आयीं हैं कि कुछ कोरोना टेस्ट ठीक से काम नहीं कर रहे हैं. हमें ध्यान रखना होगा कि पीजीआई किट अमेरिकी लैब से वैध है. किट को 20 डिग्री से कम तापमान में रखना होगा. तब कोई दिक्कत नहीं आएगी. परीक्षण किट को तापमान में रखना बहुत महत्वपूर्ण है.

The West Bengal government on Sunday alleges that the Indian Council of Medical Research-National Institute of Cholera and Enteric Disease provide detective coronavirus test kits. That leads to inconclusive results and delays the diagnosis of the disease. The ICMR-NICED authorities on Monday clarifies on the matter. ICMR deputy director Raman Gangakhedkar says it could be possibly because the kits have not been standardized. Kits need to be stored below the 20-degree temperature.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें