scorecardresearch
 

Corona से जंग में कैसे बदलता रहा डॉक्टरों का लिखा दवाई का पर्चा, देखें

Corona से जंग में कैसे बदलता रहा डॉक्टरों का लिखा दवाई का पर्चा, देखें

कोरोना महामारी आने के डेढ़ साल बाद भी कोरोना की कोई दवा नहीं है. डॉक्टरों ने वायरस को खत्म करने के लिए सिस्टम में मौजूद उन तमाम दवाओं का इस्तेमाल किया जिनके कोरोना पर कारगर रहने की उम्मीद थी, लेकिन महामारी के दौर में कोरोना ने तेजी से अपना रूप बदला और दवाएं धराशायी होती गईं. देखें कोरोना से जंग में कैसे बदलता रहा डॉक्टरों का लिखा दवाई का पर्चा.

Since the beginning of coronavirus, there is no exact medicine or treatment for the patients. Doctors used all the drugs present in the medical system to eliminate the virus, which was expected to be effective on the disease. But during the epidemic, the virus rapidly changed its form and the medicines were kept on changing. Watch how the medicines prescribed by the doctors kept changing during this covid era.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें