scorecardresearch
 

महाराष्ट्रः अमरावती-यवतमाल में कोरोना वायरस के विदेशी स्ट्रेन के कोई लक्षण नहीं

महाराष्ट्र स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि अमरावती और यवतमाल में अब तक कोविड-19 वायरस के नए स्ट्रेन नहीं मिले हैं. अमरावती, यवतमाल और सतारा से चार-चार सैंपल पुणे स्थित बीजे मेडिकल कॉलेज में टेस्ट कराए गए हैं, जिसमें विदेशी स्ट्रेन नहीं पाए गए.

महाराष्ट्र के 2 जिलों में विदेशी स्ट्रेन के लक्षण नहीं (सांकेतिक-पीटीआई) महाराष्ट्र के 2 जिलों में विदेशी स्ट्रेन के लक्षण नहीं (सांकेतिक-पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • स्वास्थ्य विभाग अचानक बढ़ रहे मामलों की जांच कर रहा
  • अमरावती, यवतमाल और सतारा के सैंपल के टेस्ट कराए गए
  • पुणे के मेडिकल कॉलेज में 12 सैंपल का टेस्ट कराया गया

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण से जुड़े केस कम होने का नाम नहीं ले रहा. अभी भी राज्य में 5 हजार से ज्यादा संक्रमण के मामले आ रहे हैं. इस बीच महाराष्ट्र स्वास्थ्य विभाग ने बयान जारी कर कहा है कि अमरावती और यवतमाल में अब तक कोविड-19 वायरस के नए स्ट्रेन नहीं मिले हैं.

स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि यह जानने की कोशिश की जा रही है कि राज्य के अमरावती, यवतमाल, सतारा और पुणे जैसे कुछ जिलों में अचानक नए मामले क्यों बढ़ रहे हैं.  

यह भी पता चला है कि अमरावती, यवतमाल और सतारा से चार-चार सैंपल पुणे स्थित बीजे मेडिकल कॉलेज में टेस्ट कराए गए हैं. टेस्ट रिपोर्ट के अनुसार, इन जिलों में महामारी से जुड़े ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका या ब्राजील में पाए जाने वाले नए विदेशी स्ट्रेन के लक्षण नहीं मिले हैं. पुणे के इस मेडिकल कॉलेज में 12 सैंपल का टेस्ट किया गया है और उनमें आनुवांशिक अनुक्रम में कोई बदलाव नहीं पाया गया है.

अगले हफ्ते तक मिलेगी विस्तृत रिपोर्ट

स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि आगे की जांच चल रही है. अकोला, अमरावती तथा यवतमाल जिलों से कुछ और नमूने जेनेटिक टेस्टिंग के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ सेल साइंस, पुणे भेजे गए हैं. इस संबंध में एक विस्तृत रिपोर्ट अगले हफ्ते तक आने की उम्मीद है.

महाराष्ट्र में कोरोना के मामले लगातार आ रहे हैं. गुरुवार को कोरोना के 5,427 नए मामले आए. जो इस साल का सबसे बड़ा आंकड़ा है. महाराष्ट्र में इस दौरान कोरोना से 38 लोगों की मौत हुई. राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 40 हजार से ऊपर है.

यवतमाल और अमरावती में कोरोना के नए मामले को देखते हुए लॉकडाउन लगा दिया गया है. यवतमाल में 28 फरवरी तक लॉकडाउन रहेगा. यवतमाल में 8 फरवरी के बाद से कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें