scorecardresearch
 

Corona पर राहत भरी खबर, भारत में तेजी से नहीं फैल रहा ओमिक्रॉन का नया सब-वैरिएंट

वर्तमान में, SARS-CoV-2 की चिंता का प्रमुख कारण ओमिक्रॉन है. वैश्विक स्तर पर ओमिक्रॉन के BA.1 वैरिएंट को नए BA.2 वैरिएंट में बदलते हुए देखा गया है. रिकॉर्ड के अनुसार भारत में नया BA.2.75 सब वैरिएंट तेजी से नहीं फैल रहा है.

X
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ओमिक्रॉन का नया सब-वैरिएंट है BA.2.75
  • देशभर में फिर बढ़ रहे हैं कोरोना संक्रमण के मामले

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच एक राहत भरी खबर सामने आई है. भारत में ओमिक्रॉन का नया सब-वैरिएंट ज्यादा तेजी से नहीं फैल रहा है. सरकारी सूत्रों ने एजेंसी को बताया कि भारत में ओमिक्रॉन के बीए 2 वैरिएंट के नए सब-वैरिएंट BA.2.75 का प्रसार सीमित मात्रा में हो रहा है. फिलहाल इसके भारत में तेजी से फैलने के मामले सामने नहीं आ रहे हैं.

सूत्रों ने कहा कि वर्तमान में, SARS-CoV-2 की चिंता का प्रमुख कारण ओमिक्रॉन है. वैश्विक स्तर पर ओमिक्रॉन के BA.1 वैरिएंट को नए  BA.2 वैरिएंट में बदलते हुए देखा गया है. रिकॉर्ड के अनुसार भारत में नया BA.2.75 सब वैरिएंट तेजी से नहीं फैल रहा है. 

नए वैरिएंट्स की निगरानी जरूरी

दरअसल, ओमिक्रॉन का BA.2 वैरिएंट फिर डेवलप हो रहा है. इसके कई सब-वैरिएंट पिछले कुछ दिनों में सामने आए हैं. B.2.75 सब-वैरिएंट BA.2 से ही निकलकर सामने आया है. सरकारी सूत्रों के मुताबिक ओमाइक्रोन के नए वैरिएंट्स के प्रसार की निगरानी करना बेहद जरूरी है. SARS-कोविड-2 के नए वैरिएंट्स का पता लगाने के लिए उनकी जीनोम सिक्वेंसिंग करना जरूरी है.

कोरोना के बढ़ते मामलों ने डराया

बता दें कि BA.2 वैरिएंट का नया सब वैरिएंट BA.2.75 तेजी से फैलने की क्षमता रखता है. देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के पीछे इसे ही जिम्मेदार ठहराया जा रहा था. भारत में कोरोना के मामलों में तेजी देखी गई है. मंगलवार को देशभर में कोरोना के 13,086 नए मामले दर्ज किए गए. इसके बाद अब देश में आने वाले कोरोना के मामलों की संख्या बढ़कर 4 करोड़ 35 लाख 31 हजार 650 हो गई. जबकि एक्टिव केस भी बढ़कर 1 लाख 14 हजार 475 हो गए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें