scorecardresearch
 

कोरोना: इन राज्यों में सिर्फ एक या दो 18+ वालों को लगी वैक्सीन, सबसे आगे महाराष्ट्र

देश के कई हिस्सों से लोगों के वैक्सीनेशन सेंटर्स से बिना वैक्सीन लगाए लौटने की शिकायतें सामने आ रही हैं. वैक्सीन की कम उपलब्धता और भारी डिमांड की वजह से कई राज्यों को स्थिति को संभालने में दिक्कत आ रही है. 

कोरोना वैक्सीनेशन के तीसरे चरण में महाराष्ट्र सबसे आगे कोरोना वैक्सीनेशन के तीसरे चरण में महाराष्ट्र सबसे आगे
स्टोरी हाइलाइट्स
  • महाराष्ट्र में 18+ का पांच लाख से ज्यादा हुआ वैक्सीनेशन
  • 9 राज्य ही1 मई से वैक्सीनेशन अभियान की कर सके शुरुआत 
  • वैक्सीन की कमी की वजह से धीमी है वैक्सीनेशन की रफ्तार 

देश में 1 मई से 18 से 44 साल के आयुवर्ग के लोगों को कवर करने के लिए वैक्सीनेशन का तीसरा चरण शुरू हुआ. लेकिन इस आयुवर्ग के लोगों के वैक्सीनेशन के मामले में कुछ राज्य/केंद्र शासित प्रदेश बहुत फिसड्डी साबित हुए हैं. स्थिति ये है कि 11 मई के सुबह के आंकड़ों के मुताबिक पुडुचेरी में सिर्फ एक और मेघालय-चंडीगढ़-त्रिपुरा में दो-दो व्यक्तियों का ही वैक्सीनेशन हो सका. 18-44 आयुवर्ग के लोगों के वैक्सीनेशन के मामले में महाराष्ट्र का नाम टॉप पर है. महाराष्ट्र में इस आयु वर्ग से पांच लाख से ज्यादा लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है.  

वैक्सीनेशन में फिसड्डी राज्य 
वैक्सीनेशन के मामले में फिसड्डी राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों में पुडुचेरी, चंडीगढ़, मेघालय और त्रिपुरा के अलावा नगालैंड और हिमाचल प्रदेश के नाम भी आते हैं. 18 से 44 आयुवर्ग के लोगों में नगालैंड में 4 और हिमाचल प्रदेश में 14 लोगों का वैक्सीनेशन किया गया है.  वहीं 18 से 44 आयु वर्ग में केरल में 397,  तेलंगाना में 500 , आंध्र प्रदेश में 812, छत्तीसगढ़ में 1,026, पंजाब में 4,163 और बंगाल में 7,092 लोगों का वैक्सीनेशन हुआ है. 

बेहतर प्रदर्शन करने वाले राज्य 
11 मई की सुबह तक के आंकड़ों के मुताबिक 18 से 44 आयुवर्ग में वैक्सीनेशन के मामले में राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में महाराष्ट्र टॉप पर है. दूसरे नंबर पर राजस्थान है, वहीं दिल्ली का नंबर तीसरा है. महाराष्ट्र में इस आयुवर्ग के 5,10,518 लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है. वहीं राजस्थान में 18 से 44 आयुवर्ग के 4,13,411 लोगों को वैक्सीन दी गई है. दिल्ली में 3,66,391 और गुजरात में 3,24,192 लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है. हरियाणा में 2,94,110, उत्तर प्रदेश में 1,67,308, बिहार में 1,79,507 और असम में 1,06,750 लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है.   

 
9 राज्यों में ही शुरू हुआ 1 मई से वैक्सीनेशन 
बता दें कि इस आयुवर्ग के लिए देश में 1 मई से वैक्सीनेशन शुरू हुआ, लेकिन अधिकतर राज्य व केंद्रशासित प्रदेश उस तारीख से ये शुरुआत नहीं कर पाए. केवल 9 राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों में ही 1 मई से इस आयुवर्ग के लोगों को वैक्सीन लगना शुरू हुआ. वैक्सीनेशन का काम रफ्तार न पकड़ पाने की बड़ी वजह वैक्सीन की कम उपलब्धता है.

राज्य बार बार ये मांग कर रहे हैं कि उनकी वैक्सीन की आपूर्ति बढ़ाई जाए. अभी तक 30 राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों में 18 से 44 आयुवर्ग के 25,59,399 को वैक्सीन लग चुकी है. इसी आयु वर्ग के लोगों में सुबह तक के आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में 5,24,731 लोगों को वैक्सीनेशन लग चुकी है.  

   

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें