scorecardresearch
 

मई में महाराष्ट्र में कोरोना के peak पर पहुंचने की संभावना, देश की इतने प्रतिशत आबादी के पास होगी एंटीबॉडीज!

देश में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है. रोजाना करीब 3.5 लाख के आसपास नए मामले सामने आ रहे हैं. ऐसे में एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि महाराष्ट्र में कोरोना का peak मई के मध्य तक आ सकता है, जबकि देश में इसके अपने उच्च स्तर पर पहुंचने में और वक्त लगेगा, जानें पूरी खबर

X
मई में महाराष्ट्र में आ सकता है कोरोना का peak (फाइल फोटो) मई में महाराष्ट्र में आ सकता है कोरोना का peak (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ‘जून तक 2% आबादी होगी कोरोना की चपेट में’
  • ब्रोकरेज और इन्वेस्टमेंट ग्रुप CLSA की रिपोर्ट में दावा

देश में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है. रोजाना करीब 3.5 लाख के आसपास नए मामले सामने आ रहे हैं. ऐसे में एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि महाराष्ट्र में कोरोना का peak मई के मध्य तक आ सकता है, जबकि देश में इसके ऊंचाई पर पहुंचने में और वक्त लगेगा, जानें पूरी खबर

CLSA की रिपोर्ट में दावा
ब्रोकरेज और इन्वेस्टमेंट ग्रुप CLSA ने अपनी एक रिपोर्ट में ये दावा किया है कि महाराष्ट्र में कोरोना का peak मई के मध्य तक आ सकता है. अपने एनालिसिस के आधार पर उसने इसके बाद मध्य जून तक महाराष्ट्र में लॉकडाउन नियमों में थोड़ी राहत दिए जाने का अनुमान जताया है.

देश में जून तक होगा उच्च स्तर
रिपोर्ट में ये भी कहा है कि पूरे देश कोरोना का peak लेवल मध्य जून में देखने को मिल सकता है. इसलिए बाजार को जून के बाद हालात नियंत्रण में आने की उम्मीद है. वहीं सबके लिए वैक्सीनेशन को खोले जाने से देश में टीकाकरण तेज होने की भी उम्मीद है. इससे देश में कोरोना को लेकर हालात में सुधार होने की संभावना है

जून तक 2% आबादी होगी कोरोना की चपेट में
रिपोर्ट में 7 दिन के संक्रमण के औसत के आधार पर अनुमान जताया गया है कि मध्य जून तक देश की आबादी का करीब 2.5% कोरोना वायरस से संक्रमित होगा. जबकि महाराष्ट्र इस स्तर को पहले ही पार कर चुका है.
कोरोना की दूसरी लहर के दौरान अभी पूरे देश की 0.5 प्रतिशत आबादी संक्रमित हो चुकी है और संक्रमण की मौजूदा दर से देंखें तो 2% के स्तर पर पहुंचने में इसे दो महीने और लग सकते हैं.

मई के अंत तक 9% आबादी के पास होगी एंटीबॉडीज
CLSA की रिपोर्ट में ये भी दावा किया गया है कि मई 2021 के अंत तक देश की कुल आबादी के 9% के पास कोरोना से लड़ने की एंटीबॉडीज होंगी. भारत अपनी लगभग 1.7% आबादी को कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराक दे चुका है.

ये भी पढ़ें:

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें