scorecardresearch
 

भारत में कोरोना की लहर थामनी है तो 5 लाख और ICU बेड की जरूरत, एक्सपर्ट ने चेताया

देश में अस्पतालों में बेड्स, ऑक्सीजन की किल्लत है. इस सबके बीच एक्सपर्ट्स ने चेतावनी दी है कि भारत में जिस तरह के हालात बन रहे हैं, उस हिसाब से अगले कुछ हफ्तों में ही अतिरिक्त करीब 5 लाख आईसीयू बेड्स की जरूरत होगी.

देश में हर दिन के साथ बिगड़ रहे हैं हालात (फोटो: PTI) देश में हर दिन के साथ बिगड़ रहे हैं हालात (फोटो: PTI)
0:58
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भारत में कोरोना से हालात खराब
  • ‘5 लाख अतिरिक्त बेड्स की होगी जरूरत’

भारत इस वक्त कोरोना वायरस की खतरनाक लहर का सामना कर रहा है और दुनिया में इस महासंकट का एपिसेंटर बन चुका है. देश में अस्पतालों में बेड्स, ऑक्सीजन की किल्लत है. इस सबके बीच एक्सपर्ट्स ने चेतावनी दी है कि भारत में जिस तरह के हालात बन रहे हैं, उस हिसाब से अगले कुछ हफ्तों में ही अतिरिक्त करीब 5 लाख आईसीयू बेड्स की जरूरत होगी.

विख्यात सर्जन डॉ. देवीप्रसाद शेट्टी का कहना है कि मौजूदा लहर के हिसाब से भारत को अगले कुछ हफ्तों में 5 लाख अतिरिक्त ऑक्सीजन बेड्स चाहिए होंगे, साथ ही 2 लाख नर्स और डेढ़ लाख डॉक्टर्स की जरूरत पड़ेगी. 

डॉक्टर के मुताबिक, अभी भारत के पास 75 से 90 हजार के बीच आईसीयू बेड्स हैं, जिनमें से अधिकतर भर चुके हैं. ये हाल तब है जब अभी कोरोना की इस लहर का पीक नहीं आया है. 

क्लिक करें: वैक्सीन शॉर्टेज: दिल्ली-पंजाब समेत इन राज्यों ने भी खड़े किए हाथ, 1 मई से नया चरण शुरू होने के आसार नहीं

भारत में 21 मेडिकल सेंटर चलाने वाली नारायणा हेल्थ संस्था के चेयरमैन डॉ. शेट्टी का कहना है कि अभी भारत में टेस्टिंग कम है, मौजूदा ट्रेंड के हिसाब से भारत में हर रोज 10-15 लाख लोग कोरोना पॉजिटिव हो रहे हैं. इससे आप हालात का पता लगा सकते हैं, ऐसे में नए आईसीयू बेड्स की व्यवस्था करना बेहद जरूरी है. 

क्लिक करें: दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र से मांगा सभी राज्यों को ऑक्सीजन सप्लाई का ब्यौरा

डॉ. शेट्टी के मुताबिक, सिर्फ बेड्स नहीं बल्कि स्टाफ को भी बढ़ाने की जरूरत है. मौजूदा ट्रेंड के हिसाब से दो लाख नर्स, डेढ़ लाख डॉक्टर अतिरिक्त बढ़ाने की जरूरत है. क्योंकि मौजूदा हालात अगले 4-5 महीने तक बने रहे सकते हैं. 

उन्होंने सुझाव दिया है कि भारत में करीब सवा दो लाख ऐसे नर्सिंग स्टूडेंट हैं जो अपनी पढ़ाई के आखिरी साल या थर्ड ईयर में हैं, ऐसे में उन्हें इस्तेमाल किया जा सकता है. उनका कहना है कि हजारों स्टूडेंट या भविष्य के डॉक्टरों का इस वक्त इस्तेमाल किया जा सकता है, क्योंकि यह युद्ध जैसे हालात हो गए हैं.

भारत में हर दिन के साथ बिगड़ रहे हैं हालात
बता दें कि भारत में पिछले करीब दस दिनों से हर रोज 3 लाख से ज्यादा केस आ रहे हैं. यानी बीते 10 दिनों में ही 30 लाख केस आ गए हैं, वहीं अब औसतन 3 हजार के करीब मौतें हो रही हैं, जो डरावना है. दिल्ली, महाराष्ट्र, यूपी समेत कई राज्यों में इस वक्त ऑक्सीजन का संकट है. जो हर दिन के साथ गहराता जा रहा है. 

भारत में कोरोना का हाल:

•    24 घंटे में कुल केस: 3,79,257
•    24 घंटे में कुल मौत: 3645
•    कुल केस की संख्या: 1,83,76,524
•    कुल मौतों की संख्या: 2,04,832
•    एक्टिव केसों की संख्या: 30,84,814    
•    अबतक लगी कुल वैक्सीन की डोज़: 15,00,20,648

 

  • क्या दिल्ली में ऑक्सीजन संकट के लिए केंद्र-राज्य सरकार के बीच की खींचतान जिम्मेदार है?

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें