scorecardresearch
 

केरलः देश की पहली कोरोना मरीज फिर से हुई संक्रमित, अभी वैक्सीन भी नहीं लगी थी

देश की पहली कोरोना मरीज को फिर से कोरोना हो गया है. वो केरल के थ्रिसूर की रहने वाली है. पिछले साल 30 जनवरी को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी और वो देश का पहला कोरोना केस था.

पहली कोरोना मरीज फिर से हुई संक्रमित. (फाइल फोटो-PTI) पहली कोरोना मरीज फिर से हुई संक्रमित. (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 30 जनवरी 2020 को हुई थी संक्रमित
  • चीन के वुहान शहर से लौटी थी स्टूडेंट
  • डेढ़ साल बाद फिर से संक्रमित हुई

देश में एक तरफ कोरोना के मामलों (Coronavirus Cases in India) में कमी आती जा रही है तो दूसरी तरफ केरल (Coronavirus in Kerala) में हालात चिंता बढ़ा रहे हैं. अब खबर आई है कि देश की पहली कोरोना संक्रमित (First Covid Patient) को फिर से कोरोना (Corona) हो गया है. उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है और उसे अभी घर पर ही क्वारनटीन रखा गया है.

देश की पहली कोरोना मरीज एक मेडिकल स्टूडेंट थी, जो पिछले साल चीन के वुहान (Wuhan) से लौटी थी. वुहान वही शहर है जहां कोरोना का पहला केस सामने आया था. पहली कोरोना मरीज केरल के थ्रिसूर की रहने वाली है और वुहान में मेडिकल की पढ़ाई करती थी. पिछले साल 30 जनवरी को उसकी कोविड रिपोर्ट (Covid Report) पॉजिटिव आई थी. ये देश में कोरोना का पहला मामला था. 

वो कोरोना से ठीक हो गई थी लेकिन करीब डेढ़ साल बाद फिर से वो कोरोना की चपेट में आ गई है. डीएमओ डॉ. केजे रीना ने बताया कि अभी उसमें कोरोना के कोई भी लक्षण नहीं है यानी कि वो एसिम्प्टोमैटिक (Asymptomatic) है और उसे घर पर ही क्वारनटीन कर दिया गया है. उसकी लगातार निगरानी की जा रही है. उन्होंने बताया कि उसने अभी तक कोरोना की वैक्सीन (Corona Vaccine) भी नहीं लगवाई थी. 

ये भी पढ़ें-- ठीक होने के बाद भी चैन से रहने नहीं दे रहा कोरोना, 40% लोगों में पोस्ट-कोविड दिक्कतें

हालांकि, ये कोई पहला मामला नहीं है जब कोई दोबारा से कोरोना संक्रमित हुआ है. देश और दुनिया में ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं जब कोई कोरोना से ठीक होने के बाद फिर से कोरोना संक्रमित हो गया. 

फरवरी 2020 में ठीक हो गई थी स्टूडेंट

देश की पहली कोरोना मरीज वुहान यूनिवर्सिटी में थर्ड ईयर की मेडिकल स्टूडेंट थी. पिछले साल वो छुट्टी मनाने अपने घर लौटी थी और 30 जनवरी को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. करीब तीन हफ्ते तक थ्रिसूर मेडिकल कॉलेज में उसका इलाज चला था और 20 फरवरी 2020 को उसे डिस्चार्ज कर दिया गया था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×