scorecardresearch
 

दिल्ली सरकार ने हिंदूराव अस्पताल को नॉन कोविड अस्पताल किया घोषित

दिल्ली सरकार ने बाड़ा हिंदूराव अस्पताल को 14 जून को कोविड हॉस्पिटल घोषित किया था. यह वह समय था जब दिल्ली में कोरोना मामले बड़े पैमाने पर सामने आ रहे थे. इस दौरान अस्पताल का मेडिकल स्टाफ लगातार अपने वेतन के लिए संघर्ष कर रहा था.

हिंदूराव अस्पताल (फाइल फोटो-पीटीआई) हिंदूराव अस्पताल (फाइल फोटो-पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • उत्तरी दिल्ली नगर निगम के कमिश्नर ने निवेदन किया था
  • जांच में पाया गया कि अस्पताल में पहले ही मरीज कम थे
  • हिंदूराव को 14 जून को कोविड हॉस्पिटल घोषित किया था

दिल्ली सरकार ने बाड़ा हिंदूराव अस्पताल को नॉन कोविड अस्पताल घोषित कर दिया है, यानी अब यहां किसी कोरोना मरीज का इलाज नहीं होगा. दिल्ली सरकार ने कहा कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम के कमिश्नर ने निवेदन किया था कि बाड़ा हिंदूराव अस्पताल को कोविड अस्पताल से नॉन कोविड अस्पताल घोषित किया जाए. दिल्ली सरकार ने इस निवेदन का परीक्षण किया और पाया कि इस अस्पताल में पहले ही मरीज कम थे. 

बता दें कि दिल्ली सरकार ने बाड़ा हिंदूराव अस्पताल को 14 जून को कोविड हॉस्पिटल घोषित किया था. यह वह समय था जब दिल्ली में कोरोना मामले बड़े पैमाने पर सामने आ रहे थे. इस दौरान अस्पताल का मेडिकल स्टाफ लगातार अपने वेतन के लिए संघर्ष कर रहा था, हड़ताल और प्रदर्शन कर रहा था.

देखें: आजतक LIVE TV

पहले दिल्ली सरकार ने इस अस्पताल के सभी मरीजों को अपने अस्पतालों में शिफ्ट किया, उसके बाद दिल्ली की नगर निगमों को कहा कि अगर आपको अस्पताल चलाने में समस्या आ रही है और आप स्टाफ का वेतन तक नहीं दे पा रहे तो अस्पताल दिल्ली सरकार को सौंप दें. इसके बाद अब बाड़ा हिंदूराव अस्पताल को नॉन कोविड हॉस्पिटल घोषित कर दिया गया.

दिल्ली में कोरोना के कुल मामले 3,11,188 हो गए हैं. अब तक कुल 5809 की मौत हुई है. राजधानी में कोरोना डेथ रेट 1.87 फीसदी और सक्रिय मरीजों की संख्या 20,535 है. होम आइसोलेशन में 12,385 मरीज हैं. कंटेनमेंट जोन की संख्या 2726 है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें