scorecardresearch
 

कोरोना से जंग के बीच बड़ा ऐलान, 13-14 जनवरी से देश में शुरू हो सकता है टीकाकरण

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि कोरोना वैक्सीन मंजूरी मिलने के 10 दिन बाद रोलआउट हो सकती है. बता दें कि कोरोना वैक्सीन को DCGI ने  3 जनवरी रविवार को मंजूरी दी थी. इस लिहाज से 13 या 14 जनवरी से देश में कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम शुरू हो सकती है. स्वास्थ्य सचिव ने इस बात की जानकारी दी है. 

13-14 जनवरी से शुरू हो सकता है कोरोना टीकाकरण (फोटो- पीटीआई) 13-14 जनवरी से शुरू हो सकता है कोरोना टीकाकरण (फोटो- पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 13-14 जनवरी से शुरू होगी कोरोना वैक्सीनेशन
  • स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी
  • पहले चरण में 3 करोड़ लोगों को लगाया जाएगा टीका

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिलने के 10 दिन बाद रोलआउट हो सकती है. बता दें कि कोरोना वैक्सीन को DCGI ने  3 जनवरी रविवार को मंजूरी दी थी. इस लिहाज से 13 या 14 जनवरी से देश में कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम शुरू हो सकती है. स्वास्थ्य सचिव ने इस बात की जानकारी दी है. 

मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि सरकार 10 दिनों के अंदर कोरोना वैक्सीन को रोलआउट करने को तैयार है. राजेश भूषण ने कहा, "चूंकि अब कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिल चुकी है, अब 10 दिनों के अंदर टीकाकरण कार्यक्रम शुरू हो जाएगा."

बता दें कि रविवार को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने AstraZeneca और ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन कोविशील्ड और भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन को मंजूरी दी थी. देश में पहले फेज में 3 करोड़ लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी. इनमें स्वास्थ्यकर्मी, फ्रंटलाइन वर्कर और 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन दी जाएगी. 

देखें: आजतक LIVE TV

स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि देश में 4 प्राथमिक वैक्सीन स्टोर मौजूद है. ये स्टोर करनाल, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता में है. इसके बाद देश 37 वैक्सीन केंद्र हैं. यहां वैक्सीन स्टोर किया जाएगा. फिर यहां से वैक्सीन को बल्क में जिला स्तर में भेजा जाएगा. जिला स्तर से इन वैक्सीन को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र फ्रीजर डब्बों में भेजा जाएगा. जहां पर इस वैक्सीन को अंतिम रूप से लोगों को लगाया जाएगा.

स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि भारत में अभी लगभग 29000 कोल्ड चेन प्वाइंट है जहां इन वैक्सीन को सुरक्षित तरीके से स्टोर कर रखा जा सकता है.

बता दें भारत ने जरूरतमंद देशों को कोरोना वैक्सीन देने का भी भरोसा दिया है. स्वास्थ्य सचिव ने कहा है कि भारत ने अभी कोरोना वैक्सीन के निर्यात पर कोई रोक नहीं लगाई है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें