scorecardresearch
 

कोरोना इफेक्ट: लोन-क्रेडिट कार्ड की EMI पर मिलेगी राहत, सरकार ने दिए संकेत

कोरोना वायरस की वजह से देशभर में 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान किया गया है. इस लॉकडाउन के बीच आम लोगों को लोन या क्रेडिट कार्ड की ईएमआई पर राहत मिलने की उम्मीद है.

X
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिए संकेत
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिए संकेत

  • बैंक लोन-ईएमआई से जुड़ी राहत का ऐलान संभव
  • ईएमआई दे रहे लोगों को तात्कालिक छूट मिल सकती है

बीते मंगलवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बैंकिंग और टैक्स से जुड़े कुछ ऐसे ऐलान किए हैं जिससे आम लोगों को काफी राहत मिलेगी. इसके साथ ही उन्होंने कुछ अच्छे संकेत भी दिए.

निर्मला सीतारमण ने कहा कि अर्थव्यवस्था के जिस भी क्षेत्र में दिक्कत होगी, उसे दूर किए जाएंगे.इसकी शुरुआत आज हो चुकी है और आगे और भी घोषणाएं होंगी. इस दौरान जब निर्मला सीतारमण से बैंक लोन और ईएमआई से जुड़ी राहत के सवाल पूछे गए तो उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर इसको लेकर भी ऐलान किए जाएंगे. वित्त मंत्री के बयान से इस बात की संभावना जताई जा रही है कि लोन या क्रेडिट कार्ड की ईएमआई दे रहे लोगों को तत्काल छूट मिल सकती है.

ATM से कैश निकालना फ्री

बता दें कि अगले 3 महीने के लिए ATM से कैश निकालना फ्री कर दिया गया है. मतलब ये कि अगर आप किसी भी बैंक के एटीएम से कैश निकालते हैं तो उस पर कोई चार्ज नहीं लगेगा. इसके साथ ही मिनिमम बैलेंस का झंझट भी खत्म हो गया है. मतलब बैंक अकाउंट में कैश रखने की जरूरत नहीं है. वहीं, वित्त मंत्री ने सभी व्यापार वित्त ग्राहकों के लिये डिजिटल कारोबार सौदे को लेकर बैंक शुल्क कम करने की भी घोषणा की है.डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिये यह कदम उठाया गया है.

ये पढ़ें—कोरोना संकट के बीच सरकार के 10 बड़े ऐलान, यहां जानें-आपको क्या मिला

इसके अलावा सरकार ने आयकर रिटर्न दाखिल करने और जीएसटी रिटर्न भरने की समय सीमा 30 जून तक बढ़ा दी है. इसी तरह, कंपनियों को ऋण शोधन कार्यवाही से बचाने के लिये आईबीसी नियमों में भी कुछ राहत दी गई है. वहीं, पैन को आधार के साथ जोड़ने की अंतिम तिथि को भी 30 जून तक बढ़ा दिया गया है. यही नहीं, जीएसटी की वार्षिक रिटर्न भरने की अंतिम तिथि में भी बदलाव हुआ है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें