scorecardresearch
 

अमेरिका में कोरोना की नई लहर, 24 घंटे में एक लाख नए केस, बाइडेन ने एक और महामारी के लिए तैयार रहने को कहा

अमेरिका एक बार फिर से कोरोना की नई लहर का सामना कर रहा है. वहां कुछ दिन से रोजाना औसतन एक लाख नए मरीज मिल रहे हैं. इसी बीच राष्ट्रपति जो बाइडेन ने एक और महामारी आने की चेतावनी दी है.

X
बाइडेन ने कहा कि महामारी से निपटने के लिए और पैसों की जरूरत होगी. (फाइल फोटो-AP/PTI) बाइडेन ने कहा कि महामारी से निपटने के लिए और पैसों की जरूरत होगी. (फाइल फोटो-AP/PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अमेरिका में कोरोना की नई लहर शुरू
  • कुछ दिन से रोज 1 लाख मामले आ रहे
  • अस्पतालों में भर्ती मरीजों की संख्या भी बढ़ी

सिर्फ भारत ही नहीं, बल्कि अमेरिका में भी कोरोना की नई लहर शुरू होने लगी है. वहां कुछ दिनों से नए मामले बढ़ने लगे हैं. 24 घंटे में ही करीब एक लाख नए संक्रमित सामने आए हैं. इसी बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने अगली महामारी के तैयार रहने की बात कही है. 

आंकड़ों के मुताबिक, अमेरिका में बीते दिन कोरोना के 94 हजार नए मामले सामने आए हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कुछ दिन से रोजाना औसतन एक लाख मामले सामने आ रहे हैं. इतना ही नहीं, वहां अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या भी अब बढ़ रही है. कुछ राज्यों में दो हफ्तों में अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या दोगुनी हो गई है.

हालांकि, राहत की बात ये है कि कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या अब भी कम है. अभी औसतन हर दिन 350 मौतें हो रहीं हैं, जबकि ओमिक्रॉन की लहर में रोजाना औसतन 2,600 से ज्यादा मौतें हो रही थीं.

ये भी पढ़ें-- देश में कोरोना की सुपरस्पीड...ओमिक्रॉन के 4 सब-वैरिएंट्स बढ़ा रहे संक्रमण, जानें ये कितने खतरनाक

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच राष्ट्रपति जो बाइडेन ने एक और महामारी आने की चेतावनी दी है. बाइडेन ने चेताते हुए कहा कि एक और महामारी आ रही है और इससे निपटने के लिए हमें और पैसों की जरूरत होगी.

बाइडेन ने अपनी पीठ थपथपाते हुए कहा कि अमेरिका दुनिया का पहला देश है, जिसने 6 महीने के बच्चों के लिए भी सुरक्षित और असरदार कोरोना वैक्सीन बनाई है. 

वहीं, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का कहना है 13 से 19 जून के बीच दुनियाभर में कोरोना के 33 लाख से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं और 7,500 से ज्यादा मरीजों की मौत हुई है. WHO के मुताबिक, ओमिक्रॉन और उसके सब-वैरिएंट्स अभी भी बड़ी चुनौती बने हुए हैं. इसी बीच BA.4 और BA.5 के मामले भी बढ़ रहे हैं. अब तक दुनिया के 62 देशों में BA.5 और 58 में BA.4 के मामले सामने आ चुके हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें