scorecardresearch
 

बीजिंग में 'बार' बना कोरोना का नया सेंटर, 166 लोग हो गए संक्रमित, मास टेस्टिंग शुरू

अन्य देशों की तुलना में चीन में कोरोना के केस और मौत का आंकड़ा काफी कम है. हालांकि, चीन पर जानकारी छिपाने का भी आरोप लगता रहा है. उधर, जहां दुनिया के बाकी देशों में प्रतिबंधों से राहत दे दी गई है, वहीं, चीन में अभी भी जीरो कोविड पॉलिसी के तहत कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए सख्ती बरती जा रही है.

X
बीजिंग में जारी मास टेस्टिंग बीजिंग में जारी मास टेस्टिंग
स्टोरी हाइलाइट्स
  • चाओयांग में बार में कोरोना संक्रमित मिलने से मचा हड़कंप
  • शंघाई में भी मास टेस्टिंग के दिए गए आदेश

चीन की राजधानी बीजिंग में कोरोना एक बार फिर बेकाबू होता नजर आ रहा है. यहां के सबसे ज्यादा आबादी वाले जिले में चाओयांग में थ्री राउंड मास टेस्टिंग का आदेश दिया गया है. दरअसल, यहां कोरोना प्रतिबंधों में ढिलाई के बाद नाइट बार और शॉपिंग एरिया में बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित मिले हैं.  

शहर के स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि हेवन सुपरमार्केट बार से शुरू हुए संक्रमण में 166 केस मिल चुके हैं. यह बार सैनलिटन क्षेत्र में स्थित है. इन 166 लोगों में 145 बार कर्मचारी हैं. इसके बाद से प्रशासन ने सोमवार और बुधवार को उस क्षेत्र में मास टेस्टिंग की, जहां बार स्थित है.  
 
अन्य देशों की तुलना में चीन में कोरोना के केस और मौत का आंकड़ा काफी कम है. हालांकि, चीन पर जानकारी छिपाने का भी आरोप लगता रहा है. उधर, जहां दुनिया के बाकी देशों में प्रतिबंधों से राहत दे दी गई है, वहीं, चीन में अभी भी जीरो कोविड पॉलिसी के तहत कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए सख्ती बरती जा रही है. यहां तक कि कई जगहों पर अभी भी प्रतिबंध लगे हैं, वहीं मास टेस्टिंग भी की जा रही है. 

उधर, बीजिंग शहर में सरकारी प्रवक्ता हेजियान ने बताया कि शहर में मौजूदा कोरोना संक्रमण काफी खतरनाक है. उन्होंने कहा, कोरोना के फैसले का खतरा अभी और मंडरा है. उन्होंने कहा, मौजूदा चुनौती क्लस्टर की पहचान करने और संक्रमण के रिस्क को कम करना है. 

उधर, चाओयांग में एक केस मिलने के बाद 2 बिल्डिंग को पूरी तरह से सीज कर दिया गया. इसमें सैकड़ों लोग रहते हैं. इमारतों के चारों ओर बैरिकेड लगा दिए गए हैं. पुलिस की तैनाती की गई है. इसके अलावा स्वास्थ्य कर्मचारी पूरी इमारत को सैनिटाइज करने में जुटे हैं. 

उधर, बीजिंग में लोगों को प्रशासन की ओर से मैसेज किए जा रहे हैं कि अगर उनमें से कोई सैनलिटन बार गया हो तो वो स्वास्थ्य विभाग को जानकारी दे. बीजिंग में अभी एक महीने पहले ही कोरोना प्रतिबंधों में ढिलाई की गई थी और यहां इंडोर डाइनिंग की अनुमति दी गई थी. 
 
उधर, शंघाई में जून की शुरुआत तक 2 महीने तक लॉकडाउन रहा. यहां प्रशासन ने फिर से 2.5 करोड़ लोगों में से ज्यादातर का कोरोना टेस्ट करने के लिए कहा है. शंघाई के अधिकारियों के मुताबिक, यहां रविवार को 1 लक्षण समेत और चार केस बिना लक्षण वाले मिले हैं. इससे एक दिन पहले यहां कोरोना के 29 केस मिले थे. इनमें से 19 को कोई लक्षण नहीं थे. 
 
चीन में 11 जून को कोरोना के 275 केस मिले हैं. इनमें से 134 को कोरोना के लक्षण हैं. जबकि 141 को कोरोना के लक्षण नहीं हैं. चीन में कोरोना से अब तक 5226 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, अब तक चीन में कोरोना के 224,781 केस मिल चुके हैं. 
 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें