scorecardresearch
 

ठंड में प्रचंड हो सकता है कोरोना, फेस्टिवल सीजन में केंद्र ने राज्यों को दी ये सलाह

स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि आप इसे मेरी चेतावनी समझ लें या फिर सलाह, लेकिन अगर त्योहारों के दौरान हमने लापरवाही की तो कोरोना फिर से विकराल हो जाएगा.

कोरोना टेस्ट कराती युवती (फाइल फोटो-PTI) कोरोना टेस्ट कराती युवती (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों को बचाव के तरीके समझाए
  • कहा- लापरवाही से विकराल हो जाएगा कोरोना

देश के कई हिस्सों में ठंड की औपचारिक शुरुआत के साथ ही त्योहारों के सीजन भी आरंभ हो गया है. कोरोना के कारण इस बार त्योहारों की रौनक फीकी है, लेकिन लोगों से बचाव की अपील की जा रही है. यही कारण है कि स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने रविवार को लोगों को त्योहारों के मौसम में कोरोना से बचाव के तरीके समझाए.

स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि आप इसे मेरी चेतावनी समझ लें या फिर सलाह, लेकिन अगर त्योहारों के दौरान हमने लापरवाही की तो कोरोना फिर से विकराल हो जाएगा. उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ जंग को जीतने के लिए हमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन आंदोलन को गंभीरता से लेना होगा.

ठंड में कोरोना के मामले बढ़ने की संभावना पर स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि अभी तक ऐसा कोई तथ्य सामने नहीं आया है, जिससे ये पता चल सके कि वातावरण में होने वाले परिवर्तन से कोरोना पर कोई असर पड़ता है कि नहीं. उन्होंने कहा कि त्योहारों के दौरान 'दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी' का पालन जरूर करें.

देखें: आजतक LIVE TV

केरल में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि राज्य ओणम उत्सव के दौरान भारी लापरवाही की कीमत चुका रहा है. तब सेवाओं को खोल दिया गया था और व्यापार तथा पर्यटन के लिए यात्रा में बढ़ोतरी हुई थी, जिससे कोविड-19 का प्रसार हुआ.

इस बीच एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, केंद्र सरकार के एक विशेषज्ञ सरकारी समिति ने चेतावनी दी है कि अगर त्योहारों के दौरान ढिलाई बरती गई तो हर महीने 26 लाख तक नए कोरोना मरीज सामने आ सकते हैं. समिति ने दावा किया था कि भारत में महामारी का पीक गुजर चुका है, दोबारा पीक आने से इनकार नहीं किया जा सकता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें