scorecardresearch
 

तमिलनाडु: बच्चे ने गुल्लक तोड़कर कोविड रिलीफ फंड में भेजे पैसे, CM MK Stalin ने दिया रिटर्न गिफ्ट

कोरोना संकट की इस घड़ी में जो सात साल के मासूम ने किया, वे बेहद ही सराहनीय है. दो साल से साइकिल के लिए पैसे जमा कर रहा था, लेकिन कोरोना काल में इस बच्चे ने अपनी गुल्लक फोड़ दी और जमा किए हुए पैसे सीएम कोविड रिलीफ फंड के लिए भेज दिए. 

कोविड रिलीफ फंड में पैसे भेजने वाले बच्चे से सीएम ने फोन पर की बात कोविड रिलीफ फंड में पैसे भेजने वाले बच्चे से सीएम ने फोन पर की बात
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दो साल से साइकिल के लिए जमा कर रहा था पैसे
  • सीएम ने फोन पर बच्चे से बात कर दी बधाई
  • विधायक और डीएमके कार्यकर्ता लेकर पहुंचे रिटर्न गिफ्ट 

तमिलनाडु में मदुरै के रहने वाले 7 साल के हरीश वर्मन की सबसे बड़ी ख्वाहिश थी अपने लिए नई साइकिल खरीदने की. हरीश बीते दो साल से साइकिल खरीदने के लिए अपने पिग्गी बैंक (गुल्लक) में पॉकेट मनी का एक-एक पैसा जोड़ रहा था, लेकिन कोरोना महामारी में लोगों को हो रही परेशानियों के बारे में हरीश ने सुना, तो साइकिल खरीदने का इरादा छोड़ दिया. इसके बदले हरीश ने पिग्गी बैंक में जमा सारे पैसे मुख्यमंत्री कोविड राहत कोष में भेज दिए.

पैसों के साथ भेजा पत्र 
हरीश ने पैसों के साथ हाथ से लिखा एक नोट भी भेजा. इस नोट में मुख्यमंत्री से कोविड जरूरतमंदों की मदद का आग्रह भी किया. हरीश के पिता इलेक्ट्रिशियन हैं. हरीश को साइकिल न खरीद पाने का कोई मलाल नहीं था, बल्कि खुशी थी कि उसके जोड़े हुए पैसे किसी जरूरतमंद के काम आएंगे.  

मिला रिर्टन गिफ्ट 
वहीं रविवार को हरीश के आश्चर्य का कोई ठिकाना नहीं रहा. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने न सिर्फ हरीश का आभार जताया, बल्कि सरप्राइज गिफ्ट में साइकिल भी भेजी.  

ये भी पढ़ें - कोरोना: इन राज्यों में सिर्फ एक या दो 18+ वालों को लगी वैक्सीन, सबसे आगे महाराष्ट्र

सीएम ने किया ट्वीट
मुख्यमंत्री स्टालिन ने एक ट्वीट में हरीश का वीडियो अपलोड करने के साथ लिखा- “मुझे इस खबर से अवगत कराया गया कि हरीश वर्मन नाम के एक बच्चे ने #COVID19 राहत के लिए CM कोविड रिलीफ फंड में वो पैसे भेजे जिनसे उसने साइकिल खरीदनी थी. ऐसी भावना तमिलनाडु की ताकत है! मैंने बच्चे के लिए एक साइकिल खरीदी और उसे फोन पर बधाई दी.” 

बेटे के कदम से खुश हैं माता-पिता 
मदुरै नॉर्थ के विधायक के थलापथी और कुछ डीएमके कार्यकर्ता साइकिल लेकर हरीश के घर पहुंचे. मुख्यमंत्री स्टालिन ने हरीश को फोन पर उसकी निस्वार्थ सेवा भावना की तारीफ की. स्टालिन ने हरीश को कोविड महामारी की स्थिति में सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए भी कहा. पूरे इलाके में हरीश की हर कोई तारीफ कर रहा है. वहीं उसके पिता इलांगो और मां गीता भी बहुत खुश हैं कि उनके बेटे को खुद सीएम स्टालिन ने फोन कर शुभकामनाएं दीं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें