scorecardresearch
 

राजस्थान: Corona RT-PCR Test रिपोर्ट के चक्कर में बॉर्डर एरिया में लगा जाम, नहीं दी जा रही एंट्री 

राजस्थान में कोरोना की रफ्तार रोकने के लिए अन्तरराज्यीय और अंतर जिला यात्राओं पर सख्ती का फैसला लिया है. बिना RT-PCR Test रिपोर्ट के किसी को भी एंट्री नहीं दी जा रही है. रिपोर्ट की चेकिंग से बॉर्डर के कई एरिया जाम के झाम से जूझ रहे हैं.  

राजस्थान के बॉर्डर एरिया में हाइवे पर लगा जाम राजस्थान के बॉर्डर एरिया में हाइवे पर लगा जाम
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रिपोर्ट जांचने के चक्कर में लगी वाहनों की कतारें
  • बिना रिपोर्ट के किसी को भी नहीं दी जा रही एंट्री

राजस्थान के बॉर्डर इलाकों के हाइवे पर बीती रात से ही जाम लगा हुआ है. दिल्ली, हरियाणा, गुजरात और मध्य प्रदेश से आने वाले वाहनों की चेकिंग की जा रही है. जिन लोगों के पास 72 घंटे पहले की RT-PCR कोरोना नेगेटिव टेस्ट की रिपोर्ट है उसे ही एंट्री दी जा रही है. 

दिल्ली और हरियाणा से आने वाले वाहनों की चेकिंग शाहजहांपुर बॉर्डर पार की जा रही है. यहां पर चेक पोस्ट की वजह से ट्रैफिक रेंग-रेंग कर चल रह है. चेक पोस्ट पर नर्सिंग कर्मियों की एक टीम भी रखी गई है, जो आने-जाने वाले लोगों की चेकिंग भी कर रहे हैं. अलवर के एएसपी राममूर्ति जोशी ने बताया कि दिल्ली की तरफ से आने वाले 85 वाहनों को वापस लौटाया गया है. सबसे ज्यादा 1200 गाड़ियों को गुजरात बॉर्डर पर डूंगरपुर जिले के रतनपुर में लौटाया गया है, केवल 356 गाड़ियों को एंट्री दी गई है. 

इसी तरह से मध्य प्रदेश के बॉर्डर पर भी राजस्थान पुलिस ने सख्ती बढ़ा दी है. बाहर से आने वाले राज्यों के लोगों से कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट मांगी जा रही है. इस वजह से बॉर्डर पर पुलिसकर्मियों से लोग उलझते भी नजर आते हैं, लेकिन इस मामले में किसी प्रकार की ढ़ील नहीं दी जा रही.

वहीं सोमवार की अपेक्षा मंगलवार को कोरोना के मामले कम आने से सरकार ने राहत की सांस ली है, मगर मरने वालों की संख्या मंगलवार को 13 हो गई है, जो अब तक राज्य में एक दिन में सबसे ज्यादा है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार की रात साढ़े 12 बजे तक कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए  राज्य की जनता के साथ खुले मंच पर मीटिंग की और जनता से सुझाव मांगे गए हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें