scorecardresearch
 

जल्द आ सकती है बच्चों की कोरोना वैक्सीन, भारत बायोटेक ने इमरजेंसी इस्तेमाल की मांगी इजाजत

21 सितंबर को भारत बायोटेक के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक कृष्णा एल्ला ने कहा था कि बच्चों के लिए कोवैक्सीन का दूसरे और तीसरे फेज का  ट्रायल पूरा हो गया है. ये ट्रायल 1000 बच्चों पर किया गया था. इस डाटा का विश्लेषण जारी है. 

बच्चों के लिए जल्द आ सकती है कोरोना वैक्सीन बच्चों के लिए जल्द आ सकती है कोरोना वैक्सीन
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 1000 बच्चों पर हुआ है ट्रायल
  • भारत बायोटेक ने CDSCO को सौंपा डाटा

बच्चों के लिए भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन जल्द बाजार में आ सकती है. भारत बायोटेक ने इस वैक्सीन का दूसरा और तीसरा ट्रायल पूरा कर लिया है. कंपनी से ट्रायल से जुड़े डाटा को केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (CDSCO) को सौंप दिया है. कंपनी ने कहा है कि उसने डाटा के सत्यापन की अपील की है और आपातकालीन इस्तेमाल की इजाजत मांगी है. 

भारत बायोटेक द्वारा विकसित की जा रही ये वैक्सीन 18 साल से कम उम्र के बच्चों को लगाई जाएगी. सूत्रों के अनुसार कंपनी ने कहा है कि 2 से 18 साल के बच्चों के कोवैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल का डाटा  CDSCO को सौंप दिया गया है. 

बता दें कि 21 सितंबर को भारत बायोटेक के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक कृष्णा एल्ला ने कहा था कि बच्चों के लिए कोवैक्सीन के दूसरे और तीसरे फेज का ट्रायल पूरा हो गया है. ये ट्रायल 1000 बच्चों पर किया गया था. इस डाटा का विश्लेषण जारी है. 

कंपनी के अनुसार ट्रायल के दौरान दो डोज के इस वैक्सीन को 28 दिन के अंतराल पर लगाया गया. तब उन्होंने कहा था कि कंपनी अगले सप्ताह डाटा सौंपने जा रही है. 

उन्होंने यह भी कहा था कि नाक के जरिए दी जाने वाली वैक्सीन का दूसरे लेवल पर ट्रायल चल रहा है और ये अक्टूबर तक समाप्त हो जाएगा. अगर कोवैक्सीन को मंजूरी मिल जाती है तो ये भारत में पहली वैक्सीन होगी जिसे बच्चों को लगाया जा सकेगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें