scorecardresearch
 

जम्मू-कश्मीरः 118 साल के बुजुर्ग ने लगवाई कोरोना वैक्सीन, मेडिकल टीम ने घर जाकर लगाया टीका

जम्मू-कश्मीर में 118 साल के शेर मोहम्मद ने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज ली. मेडिकल टीम ने उनके घर जाकर वैक्सीन लगाई. आधार कार्ड में उनके जन्म की तारीख अगस्त 1903 दर्ज है.

X
अपनी उम्र को लेकर चर्चा में बने रहते हैं शेर मोहम्मद. अपनी उम्र को लेकर चर्चा में बने रहते हैं शेर मोहम्मद.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 24 अगस्त 1903 में पैदा हुए थे शेर मोहम्मद
  • मेडिकल टीम ने घर जाकर लगाई वैक्सीन की डोज

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के बीच वैक्सीनेशन भी जारी है. गुरुवार को जम्मू-कश्मीर में 118 साल के शेर मोहम्मद को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगाई गई. मेडिकल टीम ने घर जाकर बुजर्ग को वैक्सीन की पहली डोज दी. शेर मोहम्मद के आधार कार्ड पर उनकी जन्मतिथि अगस्त 1903 दर्ज है.

अपनी उम्र को लेकर शेर मोहम्मद अक्सर चर्चा में बने रहते हैं और अब कोरोना की वैक्सीन लगवाकर चर्चा में आ गए हैं. एक सदी से भी ज्यादा वक्त देख चुक शेर मोहम्मद रियासी जिले के माहौर ब्लॉक के साड़ पंचायत में ढाका में रहते हैं. शेर मोहम्मद के आधार कार्ड पर उनका जन्म 24 अगस्त 1903 दर्ज है.

गुरुवार को मेडिकल टीम शेर मोहम्मद के घर पहुंची और उन्हें कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगाई. पहली डोज लगवाकर इलाके में मिसाल कायम करने के साथ ही शेर मोहम्मद ने उन लोगों के लिए भी एक सबक पेश किया है जो टीकाकरण में कोताही बरत रहे हैं. 

हालांकि, शेर मोहम्मद अकेले बुजुर्ग नहीं है जो इतनी उम्र होने पर वैक्सीन लगवा रहे हैं. उनसे पहले मध्य प्रदेश के सागर जिले की रहने वालीं तुलसी बाई ने भी 118 साल की उम्र में वैक्सीन लगवाई थी. उन्हें 4 अप्रैल को वैक्सीन लगाई गई थी. वैक्सीन लगवाने के बाद तुलसी बाई ने कहा था कि वैक्सीन लगवाने से बीमारी भाग जाएगी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें