scorecardresearch
 

KYC अपडेशन में EPFO ने दिखाई तेजी, जानें-नौकरीपेशा लोगों को कैसे मिलेगा फायदा

कोरोना काल में रिटायरमेंट फंड बॉडी EPFO ने KYC अपडेशन में तेजी दिखाई है. इसका फायदा ईपीएफओ के कर्मचारियों को मिलने की उम्मीद है.

X
नौकरीपेशा लोगों को मिलेगा फायदा नौकरीपेशा लोगों को मिलेगा फायदा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोरोना काल में एक्टिव रहा ईपीएफओ
  • KYC अपडेट के मोर्चे पर दिखाई तेजी
  • बड़ी संख्या में कर्मचारियों की ली मदद

कोरोना संकट काल में रिटायरमेंट फंड बॉडी EPFO काफी एक्टिव नजर आया है. ईपीएफओ ने नए नियमों के तहत तेजी से क्लेम सेटलमेंट किए हैं. वहीं, केवाईसी अपडेशन में भी काफी तेजी देखने को मिली है.

क्या कहते हैं आंकड़े

ताजा आंकड़ों के मुताबिक ईपीएफओ ने जुलाई 2020 में 2.39 लाख आधार नंबर्स, 4.28 लाख मोबाइल नंबर और 5.26 लाख बैंक अकाउंट्स को UAN सब्सक्राइबर्स के अकाउंट में अपडेट किया है. 

इसकी जानकारी देते हुए श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने कहा, ' EPFO ने मौजूदा संकट के बीच भी एक प्रमुख सामाजिक सुरक्षा संस्थान के रूप में डिजिटल मोड के जरिए अपने सब्सक्राइबर्स को बिना रुकावट के सेवाएं दी हैं. संस्थान चाहता है कि सब्सक्राइर्स तक उसकी पहुंच डिजिटल रूप में तेजी से बढ़े. यही वजह है कि KYC डेटा अपडेट की सेवाएं ऑनलाइन माध्यम से उपलब्ध कराई गई है और इसे तेजी से पूरा किया जा रहा है.'

केवाईसी अपडेशन एक बार की प्रक्रिया है जो केवाईसी विवरण के साथ यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) को जोड़ने के माध्यम से अपने सब्सक्राइबर्स की पहचान के सत्यापन में मदद करती है. जैसे ही यह प्रक्रिया पूरी हो जाती है, ईपीएफओ सब्सक्राइबर्स डिजिटल तरीके से ईपीएफओ की सेवाओं का लाभ उठाने में सक्षम हो जाते हैं. 

ये पढ़ें—अनलॉक के बीच सुधार के संकेत, जून में संगठित क्षेत्र में मिलीं 6.55 लाख नौकरियां

आपको बता दें कि बीते कुछ महीनों में EPFO ने बड़ी संख्या में अपने कर्मचारियों को KYC अपडेट करने का ही काम दिया है. इसमें वर्क फ्रॉम होम के जरिए कर्मचारी केवाईसी डिटेल्स में सुधार भी कर रहे हैं. बड़ी संख्या में ईपीएफओ स्टाफ के सदस्यों को केवाईसी अपडेशन का काम सौंपा गया है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें