scorecardresearch
 

प्राइवेट बैंक में भी खुलवा सकते हैं जनधन अकाउंट, आसान है प्रोसेस

सरकार का लक्ष्य है कि हर देशवासी तक बैंकिंग सुविधा का लाभ पहुंचना चाहिए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2014 को जनधन योजना की घोषणा की थी, और इसे 28 अगस्त 2014 को लॉन्च किया गया.

जनधन खाते के कई फायदे जनधन खाते के कई फायदे
स्टोरी हाइलाइट्स
  • देश में करीब 38.57 करोड़ जनधन खाताधारक
  • महिला के नाम पर करीब 20.05 करोड़ जनधन खाते

प्रधानमंत्री जनधन बैंक खाते के कई फायदे हैं. देश में इस समय 38.57 करोड़ लोगों के पास जनधन अकाउंट हैं. जिसमें से करीब 20.05 करोड़ महिला के नाम पर जनधन खाते हैं. अगर अभी तक आपने जनधन खाता नहीं खुलवाया है तो फिर इसके कुछ खास नियम के बारे में जान लें.

इन प्राइवेटों में खुलवाएं जनधन खाता
जनधन अकाउंट सरकारी बैंक के अलावा प्राइवेट बैंकों भी आप खुलवा सकते हैं. आप  ICICI बैंक, HDFC बैंक, एक्सिस बैंक, यस बैंक, फेडरल बैंक, ING वैश्य, कोटक महिंद्रा, कर्नाटक बैंक, इंडसइंड बैंक और धनलक्ष्मी बैंक के ब्रांच में जाकर खुलवा सकते हैं.

इसे पढ़ें: जनधन खाते में 500 रुपये महीने दे रही सरकार, ऐसे खुलता है अकाउंट

इसके अलावा अगर आपके पास पहले कोई बैंक अकाउंट है तो उसे जनधन खाते में तब्दील करवा सकते हैं. पुराने बचत खाते को जनधन खाते में बदलवाना बेहद आसान है. इसके लिए अपने ब्रांच में जाकर एक फॉर्म भरना होगा, और RuPay कार्ड के लिए आवेदन करना होता है. 

जनखत खाता खुलवाने के लिए चाहिए ये दस्तावेज
कोई भी भारतीय नागरिक इस योजना के तहत अकाउंट खुलवाने के लिए आवेदन कर सकता है. आवदेक की उम्र कम से कम 10 साल होनी चाहिए. किसी भी नजदीकी बैंक में जाकर या फिर बैंक मित्र के जरिए जनधन खाता खुलवा सकते हैं. जनधन खाता खुलवाने के लिए दस्तावेजों में आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट और मनरेगा जॉब कार्ड की जरूरत होती है.

इसे भी पढ़ें: रेटिंग एजेंसियों का कोहराम, मूडीज-फिच ने कई दिग्गज कंपनियों-बैंकों की रेटिंग घटाई

जनधन खाते कई मायने में अहम है, सरकार का लक्ष्य है कि हर देशवासी तक बैंकिंग सुविधा का लाभ पहुंचना चाहिए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2014 को जनधन योजना की घोषणा की थी, और इसे 28 अगस्त 2014 को लॉन्च किया गया.
 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें