scorecardresearch
 

IDFC फर्स्ट दे रहा 7% ब्याज, कौन से बैंकों में मिल रहा बचत पर ज्यादा ब्याज, यहां जानें

निजी क्षेत्र के आईडीएफसी फर्स्ट बैंक ने बचत खातों पर 7 प्रतिशत तक ब्याज की पेशकश की है. एक जनवरी 2021 से लागू यह ब्याज दर ग्राहकों को एक करोड़ रुपये तक की जमा पर मिलेगी. दूसरी तरफ सरकारी बैंकों में जमा दरें बहुत कम हैं.

Bank Counter Bank Counter
स्टोरी हाइलाइट्स
  • IDFC फर्स्ट बैंक दे रहा 7% ब्याज
  • निजी क्षेत्र के बैंकों की ब्याज दरें आकर्षक
  • सरकारी बैंकों की ब्याज दरें लगभग समान

निजी क्षेत्र के आईडीएफसी फर्स्ट बैंक ने बचत खातों पर 7 प्रतिशत तक ब्याज की पेशकश की है. एक जनवरी 2021 से लागू यह ब्याज दर ग्राहकों को एक करोड़ रुपये तक की जमा पर मिलेगी. जानें देश में कौन-सा बैंक बचत खातों और सावधि जमा (FD) पर देता है कितना ब्याज? 

भारतीय स्टेट बैंक

देश का सबसे बड़ा बैंक ‘भारतीय स्टेट बैंक’ (एसबीआई) अपने ग्राहकों को बचत खातों पर 31 मई 2020 के बाद से 2.70 प्रतिशत का वार्षिक ब्याज देता है. हालांकि इसमें समय-समय पर परिवर्तन होता रहता है. वर्तमान में यह 2.75 प्रतिशत वार्षिक है. वहीं एफडी पर एसबीआई 3 से 5 साल की अवधि पर 5.30 प्रतिशत जबकि 5 से 10 साल की अवधि पर 5.40 प्रतिशत वार्षिक का ब्याज देता है.

HDFC  बैंक

इसी तरह निजी क्षेत्र का सबसे बड़ा बैंक ‘एचडीएफसी बैंक’ 11 जून 2020 से बचत खातों में 50 लाख रुपये या उससे कम की जमा पर 3 प्रतिशत वार्षिक ब्याज का भुगतान करता है. जबकि 50 लाख रुपये से अधिक की जमा पर यह ब्याज दर 3.5 प्रतिशत वार्षिक है. एचडीएफसी बैंक 7 दिन से लेकर 10 वर्ष की अवधि के लिए पांच करोड़ रुपये से कम की एफडी पर 2.50 प्रतिशत से लेकर अधिकतम 5 प्रतिशत तक वार्षिक ब्याज का भुगतान करता है. इसमें वरिष्ठ नागरिकों को मिलने वाला अतिरिक्त ब्याज लाभ शामिल है.

IDFC First बैंक 

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक ने बचत खातों पर 1 लाख रुपये से कम की जमा में भी 7 फीसदी का ब्याज देकर चौंका दिया है. यह बढ़त बैंक ने 1 जनवरी 2021 से ही लागू कर दी है. इसके पहले बैंक एक लाख से कम रकम पर 6 फीसदी तक का ब्याज दे रहा था. आईडीएफसी फर्स्ट बैंक एफडी जमा पर भी आकर्षक ब्याज की पेशकश करता है. सात दिन से लेकर 10 साल की अवधि तक के लिए बैेंक दो करोड़ रुपये से कम पर न्यूनतम 2.75 और अधिकतम 5.75 प्रतिशत ब्याज की पेशकश करता है. जबकि दो करोड़ रुपये से लेकर 25 करोड़ रुपये तक के लिए समान अवधि में यह क्रमश: 2.5 प्रतिशत से लेकर 5.85 प्रतिशत वार्षि तक है.

 इसे देखें: आजतक LIVE TV 

पंजाब नेशनल बैंक

सार्वजनिक क्षेत्र के दूसरे बड़े बैंक पंजाब नेशनल बैंक अपने हर तरह के ग्राहकों को 1 सितंबर 2020 के बाद से बचत खातों पर 3 प्रतिशत वार्षिक ब्याज का भुगतान कर रहा है. पीएनबी अपनी ‘उत्तम फिक्स्ड डिपॉजिट’ स्कीम में 91 दिन से लेकर 10 साल की अवधि में न्यूनतम 4.05 प्रतिशत से अधिकतम 5.35 प्रतिशत वार्षिक ब्याज की पेशकश करता है.

बैंक ऑफ बड़ौदा

वहीं विलय के बाद बने तीसरे सबसे बड़े सरकारी बैंक ‘बैंक ऑफ बड़ौदा’ के ग्राहकों को 1 सितंबर 2020 के बाद से 2.75 प्रतिशत वार्षिक और देश के चौथे बड़े सरकारी बैंक ‘केनरा बैंक’ में 3.25 प्रतिशत से लेकर 4 प्रतिशत वार्षिक तक का ब्याज दिया जा रहा है. दो करोड़ रुपये से कम की एफडी पर बैंक 7 दिन से लेकर 10 साल की अवधि में 2.80 से लेकर 5.25 प्रतिशत वार्षिक ब्याज का भुगतान करता है.

ICICI बैंक

निजी क्षेत्र के दूसरे सबसे बड़े बैंक ‘आईसीआईसीआई बैंक’ के ग्राहकों को 4 जून 2020 के बाद से 50 लाख रुपये से कम की जमा पर 3 प्रतिशत वार्षिक और उससे अधिक की जमा पर 3.50 प्रतिशत वार्षिक ब्याज देय है. आईसीआईसीआई बैंक में एफडी की ब्याज दरें 5.5 प्रतिशत वार्षिक से शुरू होती हैं.

कोटक महिंद्रा बैंक

कोटक महिंद्रा बैंक वर्तमान में अपने ग्राहकों को एक लाख रुपये की जमा तक 3.5 प्रतिशत, एक लाख रुपये से एक करोड़ रुपये की जमा पर 4 प्रतिशत और एक करोड़ रुपये से अधिक की जमा पर 3.5 प्रतिशत वार्षिक ब्याज का भुगतान करता है. कोटक बैंक 7 दिन से लेकर 10 साल की अवधि में एफडी पर 2.50 से लेकर 4.58 प्रतिशत तक वार्षिक ब्याज अदा करता है.

बंधन बैंक

वहीं बंधन बैंक बचत खातों पर बाजार में यूं तो सबसे अधिक ब्याज 7.15 प्रतिशत वार्षिक देता है, लेकिन इसके लिए आपके बचत खाते में 50 करोड़ रुपये की जमा पूंजी होनी चाहिए. हालांकि एक लाख रुपये तक की जमा पर बंधन बैंक 3 प्रतिशत वार्षिक और एक लाख रुपये से 10 करोड़ रुपये की जमा तक पर 6 प्रतिशत ब्याज का भुगतान करता है. बंधन बैंक  7 दिन से लेकर 10 साल की अवधि में एफडी पर न्यूनतम 3 प्रतिशत से 5.50 प्रतिशत वार्षिक ब्याज का भुगतान करता है. जबकि वरिष्ठ नागरिकों को 0.75 प्रतिशत अतिरिक्त ब्याज की सुविधा मिलती है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें