scorecardresearch
 
यूटिलिटी

स्मॉल सेविंग स्कीम्स में कर रहे निवेश? मोदी सरकार लेने वाली है ये फैसला

स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स 
  • 1/5

छोटी-छोटी बचत के लिए स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स (छोटी बचत योजनाओं) को बेहद अहम माना जाता है. ये स्कीम्स सुरक्षित तो होते ही हैं, रिटर्न भी अच्छा मिल जाता है. 
 

ब्याज दर पर फैसला
  • 2/5

अगर आप भी स्मॉल सेविंग्स स्कीम में निवेश कर रहे हैं तो आपके लिए खुशखबरी मिल सकती है. दरअसल, आगामी तिमाही यानी अक्टूबर से दिसंबर तक के लिए पीपीएफ, एनएससी, सुकन्या जैसे स्‍मॉल सेविंग स्‍कीम की ब्याज दरों पर फैसला होने वाला है. 
 

हो सकती है बढ़ोतरी
  • 3/5

ऐसा माना जा रहा है कि इस बार ब्याज दर में बढ़ोतरी हो सकती है. मतलब ये कि ब्याज के तौर पर मिलने वाला मुनाफा बढ़ सकता है. इससे पहले यानी जुलाई-अगस्त-सितंबर तिमाही में ब्याज दरों को स्थिर रखा गया था. 
 

हर तिमाही में समीक्षा
  • 4/5

आपको यहां बता दें कि सरकार की ओर से हर तीन महीने पर स्मॉल सेविंग्स स्कीम के ब्याज दरों की समीक्षा की जाती है. इसी समीक्षा में ब्याज दर बढ़ाने या घटाने का फैसला होता है. जब ब्याज दर बढ़ता है तो निवेश करने वाले लोगों को ज्यादा मुनाफा मिलता है. वहीं, ब्याज कटौती की स्थिति में मुनाफा कम हो जाता है.
 

किस पर कितना ब्याज
  • 5/5

वर्तमान में PPF की बात करें तो ब्याज दर 7.1 फीसदी जबकि सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम्स के लिए ब्याज दर 7.4 फीसदी है. सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश पर 7.6 फीसदी ब्याज मिलता है. ये स्कीम बेटियों के लिए शुरू की गई थी.