scorecardresearch
 

Health Insurance 5 Key Points : महंगाई के जमाने में अच्छे इलाज की गारंटी है हेल्थ इंश्योरेंस, लेने से पहले ध्यान रखें ये 5 बातें

आज के समय में बीमारियों का इलाज काफी महंगा हो गया है. लाइफ स्टाइल, स्ट्रेस और अन्य कई वजहों से लोग कम उम्र में ही कई तरह की गंभीर बीमारियों का शिकार हो रहे हैं, ऐसे में हेल्थ इंश्योरेंस (Health Insurance) आज एक सामान्य जरूरत बन गई है और मौजूदा कोरोना एवं ओमिक्रोन संक्रमण में इसकी अहमियत काफी बढ़ गई है. जानिए वो 5 बातें जो हेल्थ इंश्योरेंस लेने के दौरान ध्यान रखना जरूरी हैं...

X
हेल्थ इंश्योरेंस आपकी फाइनेंशियल प्लानिंग के लिए है जरूरी हेल्थ इंश्योरेंस आपकी फाइनेंशियल प्लानिंग के लिए है जरूरी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आपके सेविंग रहती है सेफ
  • इनकम टैक्स में मिलती है छूट

बढ़ती महंगाई के साथ देश में हेल्थकेयर भी काफी महंगा हो गया है. दूसरी ओर, लाइफस्टाइल, स्ट्रेस और अन्य कई वजहों से लोगों में कम उम्र में ही कई तरह की गंभीर बीमारियां देखने को मिलती हैं. ऐसे में हेल्थ इंश्योरेंस (Health Insurance) सभी के लिए काफी जरूरी हो गया है. पिछले दो साल में कोरोना संकट ने इसकी अहमियत को और बढ़ा दिया है. हेल्थ इंश्योरेंस से ना सिर्फ आपकी मेहनत की कमाई अचानक खर्च होने से बच जाती है, बल्कि आपको और पॉलिसी में शामिल आपके परिवार के सदस्यों को अच्छा इलाज भी मिलता है. जानिए कि हेल्थ इंश्योरेंस सबके लिए क्यों जरूरी है और इसे लेने से पहले कौन-सी अहम बातों का ध्यान रखना चाहिए...

1. लाइफस्टाइल से जुड़ी बीमारियों के मामले बढ़ेः अब ऐसा नहीं है कि आपको 60 साल की उम्र में ही हेल्थ इंश्योरेंस की जरूरत होगी. स्क्रीन पर लंबे समय तक काम करने और काफी अधिक शारीरिक गतिविधियां नहीं होने के कारण कम उम्र में ही लोगों में हार्ट अटैक, कैंसर, फेफड़े में संक्रमण और स्ट्रोक के मामले बढ़ रहे हैं. वहीं बीपी और शुगर की समस्याएं तो बिल्कुल आम हो गई हैं. ऐसे में समय पर हेल्थ इंश्योरेंस लेना अहम हो जाता है. हेल्थ इंश्योरेंस में सालाना हेल्थ चेकअप का भी प्रावधान होता है जिससे लोगों में स्वास्थ्य को लेकर जागरूकता फैलती है. ऐसे में शुरुआत में ही किसी तरह की बीमारी का पता चलने पर उसे मैनेज करना आसान हो जाता है.

2. जल्दी खरीदने पर सस्ती पड़ती है पॉलिसीः उदाहरण के लिए अगर आप 25 साल की आयु में 5 लाख की कवरेज लेते हैं तो आपको 5000 रुपये के प्रीमियम का भुगतान करना होगा. वहीं, 35 साल में इतने रुपये की कवरेज के लिए आपको 6000 रुपये और 45 साल की आयु में इंश्योरेंस लेने पर आपको 8000 रुपये के प्रीमियम का भुगतान करना होगा.

3. आपकी कंपनी का हेल्थ कवर काफी नहीं हैः हेल्थकेयर से जुड़े खर्च में हुई बढ़ोत्तरी की वजह से कंपनी से मिले बीमा से अलग हेल्थ इंश्योरेंस खरीदने की जरूरत को नजरंदाज नहीं किया जा सकता है. किसी आम बीमारी के लिए एक सप्ताह अस्पताल में रहने का खर्च जोड़िए और फिर कंपनी की कवरेज से उसकी तुलना कीजिए. ऐसे में इस बात की संभावना बहुत अधिक है कि आप तत्काल हेल्थ इंश्योरेंस खरीदना चाहेंगे.

4. इनकम टैक्स में छूटः अगर आप हेल्थ इंश्योरेंस खरीदते हैं तो आपको इनकम टैक्स में भी छूट मिलती है. टैक्स और इंवेस्टमेंट एक्सपर्ट बलवंत जैन के मुताबिक इनकम टैक्स के सेक्शन 80D के तहत हेल्थ इंश्योरेंस के लिए किए गए प्रीमियम के भुगतान पर टैक्स में छूट मिलती है. इसके मुताबिक अगर कोई व्यक्ति हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदता है तो उसे 25,000 रुपये तक की छूट मिलती है और अगर वह अपने माता-पिता (60 साल से कम आयु) के लिए पॉलिसी खरीदता है तो उसे और 25,000 रुपये की छूट मिलती है. वहीं, अगर आपके माता-पिता की उम्र 60 साल से ज्यादा है तो आपके उनके लिए 50,000 रुपये की छूट मिलती है. 

5. अब हॉस्पिटलाइजेशन से इतर भी मिलती है कवरेजः नए हेल्थ प्लान में डे केयर प्लान के साथ-साथ आपको ओपीडी की कवरेज भी मिल जाती है. अब वेक्टर-जनित रोग की कवरेज भी मिलती है. अब मातृत्व से जुड़ी कवरेज भी मिल जाती है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें