scorecardresearch
 

दिल्ली के इस शख्स की क्रिप्टोकरेंसी हुई चोरी, मिली आतंकी संगठन के खाते में!

पीड़ित व्यक्ति के हिसाब से 4.5 करोड़ रुपये के बराबर वैल्यू की क्रिप्टोकरेंसी उसके वॉलेट से उड़ाई गई. पुलिस को जांच में पता चला कि ये क्रिप्टोकरेंसी अंतत: जिन वॉलेट में ट्रांसफर हुईं, उन्हें प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन हमास की मिलिट्री यूनिट अल-कासम ब्रिगेड (al-Qassam Brigades) ऑपरेट करता है.

X
हमास के खाते में हुआ ट्रांसफर हमास के खाते में हुआ ट्रांसफर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 4.5 करोड़ रुपये की वैल्यू की क्रिप्टोकरेंसी का फ्रॉड
  • हमास से जुड़े लोगों के वॉलेट में ट्रांसफर हुई क्रिप्टोकरेंसी

दिल्ली के एक व्यक्ति के अकाउंट से हाल ही में उड़ाई गई क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency Scam) का आखिरकार पता लग गया है. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की जांच में पता चला है कि ये पैसे आतंकवादी संगठन हमास (Hamas) से जुड़े लोगों के वॉलेट में जमा हुए हैं. इन्हें कई प्राइवेट वॉलेट से गुजारकर हमास से जुड़े लोगों के पास ट्रांसफर किया गया.

दिल्ली पुलिस की IFSO Unit कर रही थी जांच

इस मामले का खुलासा तब हुआ, जब पीड़ित व्यक्ति ने दिल्ली के पश्चिम विहार थाने में बीते दिनों शिकायत की. पीड़ित ने बताया कि कुछ अज्ञात लोगों ने उसके वॉलेट से बिटकॉइन (Bitcoin), इथेरम (Etherum) और बिटकॉइन कैश (Bitcoin Cash) गलत तरीके से ट्रांसफर कर लिया है. बाद में कोर्ट के आदेश पर यह मामला साइबर क्राइम यूनिट (Cyber Crime Unit) को सौंप दिया गया. दिल्ली पुलिस की इंटेलीजेंस फ्यूजन एंड स्ट्रेटजिक ऑपरेशंस यूनिट (IFSO Unit) इसकी जांच कर रही थी.

हमास से जुड़े इस वॉलेट को इजरायल ने किया सीज

पीड़ित व्यक्ति के हिसाब से 4.5 करोड़ रुपये के बराबर वैल्यू की क्रिप्टोकरेंसी उसके वॉलेट से उड़ाई गई. पुलिस को जांच में पता चला कि ये क्रिप्टोकरेंसी अंतत: जिन वॉलेट में ट्रांसफर हुईं, उन्हें प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन हमास की मिलिट्री यूनिट अल-कासम ब्रिगेड (al-Qassam Brigades) ऑपरेट करता है. इनमें से एक वॉलेट मोहम्मद नसीर इब्राहिम अब्दुल्ला के नाम पर है, जिसे इजरायल का नेशनल ब्यूरो फॉर टेरर फाइनेंसिंग ने पहले ही सीज कर लिया है.

मिस्र से ऑपरेट हो रहे कुछ वॉलेट

इसके अलावा जिन अन्य वॉलेट में फ्रॉड की गई क्रिप्टोकरेंसी ट्रांसफर हुई, उन्हें मिस्र (Egypt) के गीजा से ऑपरेट किया जा रहा है. ये वॉलेट मिस्र के अहमद मरजूक और फिलीस्तीन के अहमद क्यूएच सफी के नाम से हैं. अल-कासम ब्रिगेड से जुड़े लोगों के वॉलेट में पहुंचाने से पहले इन क्रिप्टोकरेंसी को कई बार अलग-अलग प्राइवेट वॉलेट में ट्रांसफर किया गया.

हैक हो चुका है पीएम, ओबामा जैसों का अकाउंट

जैसे-जैसे क्रिप्टोकरेंसी का चलन बढ़ा है, फ्रॉड करने वालों और हैकरों की भी दिलचस्पी बढ़ी है. हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का Twitter Account हैक कर लिया गया था. दिसंबर में हुई इस घटना में पीएम का अकाउंट हैक कर बिटकॉइन को लेकर एक Tweet भी किया गया था. इससे पहले जुलाई 2020 में दो घंटे के दौरान 130 हाई-प्रोफाइल Twitter Account को हैक कर बिटकॉइन स्कैम को अंजाम दिया गया था. इनमें दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति Elon Musk,अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति  Barack Obama, मौजूदा अमेरिकी राष्ट्रपति  Joe Biden, Bill Gates, Jeff Bezos, Michael Bloomberg, Warren Buffet, Floyd Mayweather Jr, Kim Kardashian, Kanye West के अलावा Apple और Uber जैसी कंपनियों के Twitter Account भी शामिल थे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें