scorecardresearch
 

MS धोनी का ड्रोन कंपनी में निवेश, पिछले हफ्ते ही पीएम मोदी ने कहा- फ्यूचर इंडस्ट्रीज!

देश के ड्रोन इंडस्ट्रीज ने भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) को प्रभावित किया है. महेंद्र सिंह धोनी (MS dhoni) ने चेन्नई स्थित भारतीय ड्रोन स्टार्टअप Garuda Aerospace में निवेश किया है.

X
ड्रोन कारोबार पर एमएस धोनी की नजर ड्रोन कारोबार पर एमएस धोनी की नजर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • Garuda Aerospace में महेंद्र सिंह धोनी की दोहरी भूमिका
  • अडानी-अंबानी की भी इस इंडस्ट्रीज पर नजर

भारत में तेजी से ड्रोन (Drone) का कारोबार फैलने वाला है. पिछले दिनों दिल्ली में ड्रोन महोत्सव का आयोजन किया गया था. इस महोत्सव का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने किया था. उन्होंने ड्रोन को घर-घर तक पहुंचाने का रोडमैप बताया था, खासकर किसानों के लिए ड्रोन कैसे मददगार बनने वाला है.

Garuda Aerospace से जुड़े धोनी 

अब खबर है कि देश के ड्रोन इंडस्ट्रीज ने भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) को प्रभावित किया है. महेंद्र सिंह धोनी (MS dhoni) ने चेन्नई स्थित भारतीय ड्रोन स्टार्टअप Garuda Aerospace में निवेश किया है. साथ ही वे ब्रांड एंबेसडर भी नियुक्त किए गए हैं. 

इसके अलावा गरुड़ एयरोस्पेस (Garuda Aerospace) एक सेलिब्रिटी ब्रांड एंबेसडर में शामिल होने वाला पहला ड्रोन स्टार्ट-अप है. हालांकि इस डील के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं मिल पाई है. उन्होंने कितना निवेश किया है, इसका खुलासा नहीं हो पाया है. 

Garuda Aerospace से जुड़कर धोनी खुश 

सोमवार को ड्रोन कंपनी की ओर से जारी एक स्टेटमेंट में धोनी के हवाले से कहा गया, ‘मैं गरुड़ एयरोस्पेस का हिस्सा बनकर खुश हूं और उनके द्वारा पेश किए जाने वाले अद्वितीय ड्रोन समाधानों के साथ उनकी विकास की कहानी को देखने के लिए उत्सुक हूं.’

देश के 26 शहरों में संचालित 300 ड्रोन और 500 पायलटों से लैस, गरुड़ एयरोस्पेस ड्रोन-निर्माण सुविधाओं को हाल ही में पीएम मोदी ने लॉन्च किया था. क्रिकेटर धोनी इससे पहले कई व्यवसाय से जुड़ चुके हैं. धोनी कपड़े, शराब और कृषि जैसे उद्योगों से जुड़े हैं. कृषि को ध्यान में रखकर धोनी ने अब ड्रोन कंपनी में निवेश का फैसला लिया है. 

पीएम मोदी ने की निवेश की अपील

गौरतलब है कि पिछले हफ्ते पीएम मोदी ने ड्रोन महोत्सव में कहा था कि मुझे उम्मीद है कि भविष्य में ड्रोन का उपयोग तेजी से बढ़ेगा. मैं फिर से देश और दुनिया भर के निवेशकों को आमंत्रित कर रहा हूं. उद्योग, ड्रोन को लोगों के लिए अधिक सुलभ बनाने के लिए मैं विशेषज्ञों से भी अपील कर रहा हूं. मैं युवाओं से अपील करना चाहता हूं कि नए ड्रोन स्टार्टअप सामने आने चाहिए. 

अडानी-अंबानी का भी निवेश
बता दें, ड्रोन कारोबार पर देश के दिग्गज उद्योगपतियों की भी नजर है. अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड (AEL) की सब्सिडियरी कंपनी अडानी डिफेंस सिस्टम्स एंड टेक्नोलॉजीज लिमिटेड ने 27 मई 2022 को कृषि ड्रोन स्टार्टअप जनरल एरोनॉटिक्स में 50% हिस्सेदारी खरीद ली है. अडानी एंटरप्राइजेज के मुताबिक यह अधिग्रहण की प्रक्रिया 31 जुलाई, 2022 तक पूरी कर ली जाएगी. दूसरी तरफ रिलायंस इंडस्ट्रीज के मुकेश अंबानी की कंपनी जियो प्लेटफॉर्म्स की दो सब्सिडरी कंपनियां भी ड्रोन बना रही है.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें