scorecardresearch
 
यूटिलिटी

शेयर चुनने का सबसे आसान तरीका, 5 मिनट में खुद बनिए Market Expert!

Stock चयन के तरीके
  • 1/9

अधिकतर रिटेलर (Retailer) या फिर कहें आम आदमी, अक्सर दूसरे के कहने पर शेयर बाजारों (Share Market) में निवेश करते हैं, उन्हें कोई कह देता है कि ये Stock अच्छा रिटर्न (Return) दे सकता है और फिर उसमें वे अपनी गाढ़ी कमाई लगा देते हैं. लेकिन क्या आपने ये कभी जानने की कोशिश की है कि जिस कंपनी के स्टॉक में आप निवेश कर रहे हैं, उसका कारोबार कैसा है? (Photo: Getty Images)

Stock Selection Process
  • 2/9

दरअलस, रिटेल निवेशक (Retail Investor) भविष्य को ध्यान में रखकर शेयर बाजार (Stock Market) में निवेश करते हैं, क्योंकि उनका नजरिया लॉन्ग टर्म (Long Term) रहता है. लेकिन इसके बावजूद अधिकतर रिटेल निवेशक वर्षों तक निवेशित रहने के बाद भी अच्छा मुनाफा नहीं कमा पाते हैं. इसका एक ही कारण स्टॉक (Stock Selection) का सही से चयन नहीं कर पाना है. (Photo: Getty Images)
 

अच्छे स्टॉक चुनने के तरीके
  • 3/9

इसलिए दूसरे के कहने पर निवेश (Invest) करने से पहले आप खुद आसानी से अच्छे स्टॉक (Best Stock) का चयन कर सकते हैं. अच्छे स्टॉक में निवेश करने से भले ही शॉर्ट टर्म (Short Term) में बाजार में उतार-चढ़ाव की वजह से शेयर थोड़ा नीचे चला जाए और आपको अपने पोर्टफोलियो (Portfolio) में नुकसान दिखे. लेकिन Long Term में हमेशा अच्छे स्टॉक में रिटर्न देने की क्षमता होती है. (Photo: Getty Images)

खुद बेहतर स्टॉक खोजें
  • 4/9

अब आप सोच रहे होंगे कि स्टॉक का चयन कोई आसान काम है क्या? इसका जवाब है- बिल्कुल आसान काम है. आप 5 मिनट में खुद बेहतर स्टॉक खोज सकते हैं. इसके लिए आपको कंपनी के कारोबार (Business of Company) पर फोकस करना होगा. जिस स्टॉक में आप पैसे लगा रहे हैं, उसका कारोबार बेहतरीन होना चाहिए. बस एक यही अहम पैमाना है, जिसके आधार पर आप लंबी अवधि में शेयर से मोटा रिटर्न पा सकते हैं. (Photo: Getty Images)

कंपनी के कारोबार को खंगालें
  • 5/9

आइए जानते हैं, एक स्टॉक में निवेश से पहले कंपनी के कारोबार में क्या देखें, ताकि आप तय कर पाएं कि इसमें निवेश करना है या नहीं. आप आसानी से कंपनी के कारोबार का मौलिक विश्लेषण (Fundamental Analysis) कर सकते हैं. कंपनी छोटी है या बड़ी, आप चंद मिनट में उस कंपनी के खाता-बही को खंगाल सकते हैं. हालांकि बड़ी कंपनियों में निवेश से जोखिम (Risk) कम होते हैं. (Photo: Getty Images)

पहला पैमाना- 
  • 6/9

पहला पैमाना- 
सबसे पहले कंपनी के रेवेन्यू को खंगालिए. यह देखें कि कंपनी सालाना कितना रेवेन्यू (Revenue) जेनरेट करती है. अगर साल-दर-साल कंपनी के कुल राजस्व (Total Revenue) में इजाफा हो रहा है तो फिर तो मान के चलिए कंपनी का कारोबार फल-फूल रहा है. अभी कंपनी एक पैमाने पर कंपनी खरी उतरी है. (Photo: Getty Images)
 

दूसरा पैमाना- 
  • 7/9

दूसरा पैमाना- 
अब इसके बाद कंपनी की Net Income पर नजर डालिए. अगर लगातार कंपनी की Net Income बढ़ रही है तो फिर इससे पता चल जाएगा कि कंपनी अपने सभी खर्चे को काटकर मुनाफे में चल रही है. अगर मोटा रेवेन्यू के बाद भी कंपनी की आमदनी नहीं बढ़ रही है तो फिर ऐसी कंपनी में निवेश से बचें. (Photo: Getty Images)
 

तीसरा पैमाना- 
  • 8/9

तीसरा पैमाना- 
उसके बाद जिस स्टॉक में निवेश करना चाहते हैं, उस कंपनी की संपत्ति (Assets) को भी जरूर चेक करें. अगर साल-दर-साल कंपनी की संपत्ति (Total Assets) में इजाफा हो रहा है तो, इससे साफ है कि कंपनी अपने कारोबार को विस्तार दे रही है. इसके बाद देखें कि कंपनी पर कुल कितनी देनदारी (Total Liabilities) है. अगर Total Assets से Total Liabilities कम है तो फिर ये कह सकते हैं कि संकट में कंपनी अपने असेट्स बेचकर निवेशकों को पैसा लौट सकती है. इसलिए हमेशा Liabilities से Assets अधिक होना चाहिए. कर्ज में डूबी कंपनी में कतई निवेश न करें. (Photo: Getty Images)

चौथा पैमाना-
  • 9/9

चौथा पैमाना-
कंपनी के पास नकदी है कि नहीं? अगर कंपनी के पास कैश फ्लो (Cash Flow) अच्छा है और साल-दर-साल इसमें इजाफा हो रहा है, तो फिर सोने पर सुहागा. इससे साफ हो जाता है कि कंपनी सब खर्चे काटकर नकदी बचा रही है. जो कि कंपनी कभी भी किसी भी काम के लिए इस्तेमाल कर सकती है. लेकिन अगर कंपनी के पास Free Cash Flow नहीं है, या फिर निगेटिव में हैं तो फिर ऐसी कंपनी में निवेश से बचें. आप (www.tickertape.in) पर पूरी जानकारी ले सकते हैं. इसके अलावा भी स्टॉक परखने के कई पैमाने हैं. लेकिन इतनी बेसिक जानकारी के साथ आप स्टॉक चुन सकते हैं. हालांकि किसी भी स्टॉक में निवेश से पहले वित्तीय सलाहकार की मदद जरूर लें. (Photo: Getty Images)