scorecardresearch
 
यूटिलिटी

YONO पर बड़े बदलाव की तैयारी, SBI चेयरमैन ने दिए संकेत

योनो पर बड़ा फैसला 
  • 1/5

देश का सबसे बड़ा बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) अपने डिजिटल प्लेटफार्म योनो पर एक बड़ा फैसला लेने वाला है. इस संबंध में बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार ने संकेत भी दिए हैं.
 

क्‍या होगा फैसला 
  • 2/5

रजनीश कुमार ने बताया कि बैंक योनो को अलग इकाई बनाने के बारे में सक्रियता के साथ विचार कर रहा है. योनो यानी ‘यू ओनली नीड वन ऐप’ स्टेट बैंक की एकीकृत बैंकिंग प्‍लेटफॉर्म है.
 

मूल्यांकन 40 अरब डॉलर के आसपास
  • 3/5

एक कार्यक्रम में रजनीश कुमार ने कहा कि योनो के अलग इकाई बन जाने के बाद स्टेट बैंक उसका इस्तेमाल करने वालों में एक होगा. हालांकि बातचीत अभी शुरुआती दौर में है, मूल्यांकन का काम अभी लंबित है. रजनीश कुमार ने हाल ही में कहा था कि योनो का मूल्यांकन 40 अरब डॉलर के आसपास हो सकता है. 

2.60 करोड़ रजिस्‍टर्ड यूजर्स
  • 4/5

आपको बता दें कि योनो को तीन साल पहले शुरू किया गया था. इसके 2.60 करोड़ रजिस्‍टर्ड यूजर्स हैं. इसमें रोजना 55 लाख लॉगइन होते हैं और 4,000 से अधिक पर्सनल लोन आवंटन और 16 हजार के करीब योनो कृषि एग्री गोल्ड लोन दिये जाते हैं. 

डिजिटल भुगतान कंपनी स्थापित करने पर भी विचार
  • 5/5

रजनीश कुमार ने यह भी कहा कि स्टेट बैंक खुदरा भुगतान के लिये एक नई समग्र इकाई व्यवस्था के तहत अलग डिजिटल भुगतान कंपनी स्थापित करने पर भी विचार कर रहा है. रिजर्व बैंक ने इस साल अगस्त में एक अखिल भारतीय खुदरा भुगतान इकाई की अनुमति के लिये नियम कायदे जारी की थी.