scorecardresearch
 
यूटिलिटी

18 रुपये का यह शेयर 4 महीने में 1300 का हुआ, 10 हजार के निवेश पर 7.25 लाख रिटर्न!

चार महीने से एकतरफा रैली
  • 1/7

एक दिवालिया हो चुकी फॉर्मा कंपनी के शेयर में पिछले 4 महीनों में 7000 फीसदी से ज्यादा का उछाल दर्ज किया जा चुका है. अब भी शेयर में अपर सर्किट का सिलसिला जारी है. यहां बात हो रही है दिवालिया कंपनी ऑर्किड फार्मा लिमिटेड (Orchid Pharma Ltd) की. (Photo: File)  
 

ऑर्किड फॉर्मा के शेयरों में तेजी
  • 2/7

दरअसल, दिवालिया घोषित होने के बाद ऑर्किड फॉर्मा को एनसीएलटी (NCLT) के रेजॉल्यूशन प्लान के तहत धनुका लैब (Dhanuka Lab) ने खरीदा था. उसके बाद से ही ऑर्किड फॉर्मा कंपनी के शेयरों को पंख लग गए हैं. (Photo: File)

रिटर्न देने में इस शेयर से बिटक्वॉइन भी पीछे
  • 3/7

फॉर्मा स्टॉक Orchid Pharma ने रिटर्न देने के मामले में बिटक्वॉइन को भी पीछे छोड़ दिया है. जहां आर्किड फॉर्मा के शेयरों में बीते 4 महीने के दौरान करीब 7000 फीसदी का रिटर्न मिला है. वहीं इस दौरान बिटक्वॉइन में 203 फीसदी रिटर्न मिला है. (Photo: File)

3 नवंबर 2020 से लगातार तेजी
  • 4/7

3 नवंबर 2020 को Orchid Pharma को स्टॉक एक्सचेंज में दोबारा सूचीबद्ध कराया गया था. इसके बाद कभी कंपनी के स्टॉक्स में गिरावट नहीं आई. रीलिस्टिंग के दिन से अब तक कंपनी के स्टॉक्स में हर दिन अपर सर्किट लग रहा है. बुधवार 10 मार्च को शेयर में 5 फीसदी का अपर सर्किट लगा, और शेयर एनएसई पर 1,307.55 रुपये पर बंद हुआ. (Photo: File)

रीलिस्टिंग के समय 18 रुपये थी कंपनी के स्‍टॉक की कीमत
  • 5/7

रीलिस्टिंग के समय 18 रुपये थी कंपनी के स्‍टॉक की कीमत
ऑर्किड फॉर्मा कंपनी की जब 3 नवंबर 2020 को दोबारा रीलिस्टिंग हुई तो उसके शेयर का भाव 18 रुपये था. जो 10 मार्च 2021 को बढ़कर 1,307.55 रुपये हो गया है. इस तरह से देखें तो सिर्फ 128 दिन में निवेशकों के 10 हजार रुपये का निवेश 7.25 लाख रुपये हो गया. (Photo: File)

मार्केट कैप बढ़कर 5000 करोड़ के पार
  • 6/7

मार्केट कैप बढ़कर 5000 करोड़ के पार
मौजूदा वित्त वर्ष की दिसंबर तिमाही में कंपनी का रेवेन्यू 102.63 करोड़ रुपये रहा और कंपनी को 45.33 करोड़ रुपये का घाटा हुआ. मार्च- 2020 में कंपनी का रेवेन्यू 505.45 करोड़ रुपये था और 149.84 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था. चेन्नई बेस्ड इस फॉर्मा कंपनी का मार्केट कैप बढ़कर 5000 करोड़ से ज्यादा हो गया है. (Photo: File)

रिटेल निवेशकों के पास सिर्फ 0.5 फीसदी शेयर
  • 7/7

ऑर्किड फॉर्मा कंपनी में धनुका लैब की हिस्सेदारी 98.04 फीसदी है. इसके अलावा दूसरे वित्तीय संस्थानों की हिस्सेदारी 1.19 फीसदी है. वहीं, रिटेल निवेशकों के पास कंपनी के सिर्फ 0.5 फीसदी शेयर हैं. कंपनी के स्टॉक्स की इसी शॉर्टेज के चलते इसकी कीमतों में उछाल आई है. (Photo: File)