scorecardresearch
 
यूटिलिटी

PPF, NSC जैसी छोटी बचत योजनाओं पर जानें अब मिल रहा कितना ब्याज

सुबह-सुबह आया वित्त मंत्री का ट्वीट
  • 1/6

सरकार ने बुधवार को नए वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही के लिए छोटी ब्याज दरों में कटौती की घोषणा की थी. लेकिन 24 घंटे से भी कम समय में बृहस्पतिवार को सुबह-सुबह वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्विटर पर ‘गलती से आदेश जारी’ हो जाने की जानकारी दी और फैसला वापस ले लिया.
(फाइल फोटो)

अब कितनी होगी ब्याज दर?
  • 2/6

वित्त मंत्री ने अपने ट्वीट में जानकारी दी कि अप्रैल-जून की अवधि के लिए पीपीएफ, सुकन्या समृद्धि योजना जैसी लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दर जनवरी-मार्च 2021 की तिमाही के बराबर ही रहेंगी.
(सांकेतिक फोटो)

सबसे लोकप्रिय स्कीम पीपीएफ
  • 3/6

लघु बचत योजनाओं में सबसे लोकप्रिय योजना पब्लिक प्रोविडेंट फंड है, इसकी वजह इस पर अच्छा ब्याज मिलना है. सरकार ने इसे घटाकर 6.4% वार्षिक किया था. लेकिन अब ये फिर से 7.1% ही रहेगी.
(सांकेतिक फोटो)

सुकन्या समृद्धि योजना पर भी अधिक ब्याज
  • 4/6

देश में बच्चियों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए सरकार ने 2015 में सुकन्या समृद्धि योजना पेश की थी. इस पर ब्याज दर को घटाकर 6.9% वार्षिक कर दी गई थी लेकिन अब ये फिर से 7.6% सालाना हो गई है.
(फाइल फोटो)

 किसान विकास पत्र पर ये है ब्याज
  • 5/6

सरकार ने राष्ट्रीय बचत पत्र (NSC) और किसान विकास पत्र (KVP) योजनाओं के ब्याज पर भी कैंची चलाई थी. लेकिन फैसला वापस होने के बाद ये फिर से क्रमश: 6.8% और 6.9% सालाना हो गई हैं.
(सांकेतिक फोटो)
 

वरिष्ठ नागरिकों को भी राहत
  • 6/6

सरकार ने अन्य बचत योजनाओं और वरिष्ठ नागरिकों की बचत योजनाओं की ब्याज भी घटाई थी. लेकिन अब सामान्य बचत खातों पर पहले की तरह 4%, पांच वर्ष तक की छोटी बचत योजनाओं में आरडी पर 5.8% और वरिष्ठ नागरिकों की बचत योजना पर 7.4% बयाज मिलता रहेगा.
(सांकेतिक फोटो)