scorecardresearch
 

बचत योजनाओं पर ब्याज दर में कटौती का फैसला वापस, PPF-FD पर पहले जैसा मिलता रहेगा रिटर्न

इसके पहले बुधवार को सरकार ने एक अप्रैल 2021 से छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज की दर को घटा दिया था.

X
पहले की तरह मिलता रहेगा ब्याज
पहले की तरह मिलता रहेगा ब्याज
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ब्याज दरों में कटौती को वापस लिया गया
  • वित्त मंत्री ने ट्वीट कर दी ये जानकारी

सरकार ने बचत योजनाओं के ब्याज दर में कटौती के ऐलान को वापस ले लिया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज सुबह एक ट्वीट कर यह जानकारी दी. यह करोड़ों लोगों के लिए काफी राहत की बात है. 

इसके पहले बुधवार को सरकार ने एक अप्रैल 2021 से छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज की दर को घटा दिया था. ब्याज दरों में कटौती का यह नोटिफिकेशन नए वित्त वर्ष की पहली तिमाही के लिए जारी किया गया था. वित्त मंत्री ने कहा कि अब सभी योजनाओं पर ब्याज दर वही रहेगी, जो पिछली मार्च तिमाही में थी. 

tweet

पहले हुआ था ये ऐलान

सरकार ने बुधवार को जारी नोटिफिकेशन में कहा था कि सामान्य बचत खातों में जमा राशि पर ब्याज दर को चार फीसदी से घटाकर 3.5 फीसदी सालाना कर दिया जाएगा. इसके साथ ही एक वर्ष से लेकर पांच वर्ष तक की छोटी बचत योजनाओं पर भी ब्याज दर में कटौती की गई थी. पांच वर्ष तक की रिकरिंग डिपॉजिट योजना पर ब्याज दर 5.8 फीसदी से घटाकर 5.3 फीसदी कर दी गई थी. इसके अलावा वरिष्ठ नागरिकों की बचत योजनाओं पर ब्याज दर को 7.4 फीसदी से घटाकर 6.5 फीसदी करने का ऐलान किया गया था. इसी प्रकार से राष्ट्रीय बचत पत्र, किसान विकास पत्र पर भी ब्याज दर घटाई गई थी. पीपीएफ पर मिलने वाले ब्याज की दर को 7.1 फीसदी से घटाकर 6.4 फीसदी सालाना कर दिया गया था. एक साल तक की जमा पर ब्याज दर को 5.5 फीसदी से घटाकर 4.4 फीसदी तिमाही कर दिया गया था.

जानें अब कितना मिलेगा ब्याज 
सरकार के इस ऐलान के बाद बचत योजनाओं पर ब्याज पहले की तरह मिलती रहेगी. जो इस प्रकार है- 

योजना ब्याज 
पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)   7.1 फीसदी 
नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC)    6.8  फीसदी 
सुकन्या समृद्धि योजना      7.6 फीसदी 
 
सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम     
7.4 फीसदी 
किसान विकास पत्र     6.9 फीसदी 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें